April 14, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • पूर्व विधायक राजेश जुवांठा लड़ेगे विधानसभा चुनाव।
अभी-अभी उत्तरकाशी उत्तराखंड राजनीति

पूर्व विधायक राजेश जुवांठा लड़ेगे विधानसभा चुनाव।

 अरविन्द थपलियाल

उत्तरकाशी : पुरोला विधानसभा से पूर्व विधायक राजेश जुंवाठा भी 2022का विधानसभा चुनाव लड़ सकतें हैं पूर्व विधायक अभी भाजपा से टिकिट लेने की भी दावेदारी कर रहे हैं जुंवाठा पूर्व में पुरोला विधायक रह चुके हैं।
पुरोला विधानसभा में भाजपा के पास पूर्व विधायक जुंवाठा, पुर्व विधायक मालचंद,और मोरी से युवा नेता दुर्गेश लाल हैं अब यह देखना है कि पुरोला की रिजर्व सीट पर भाजपा किस को अपना नेता चुनती है यह बडी़ चुनौती होगी ऐसा इसलिये कि भाजपा को पुरोला विधानसभा की सीट पर कब्जा करना है।
पुरोला विधानसभा अभी तक एक मिथक है कि जिस पार्टी की सरकार होती है उसका विधायक नहीं रहता है अब चुनौती भाजपा और कांग्रेस के सामने इस बात की चुनौती है कि इस लडा़ई को जीतने में कौन सफल रहता है राजेश जुंवाठा भाजपा से टिकट की भी मांग करेंगे और करें भी क्यों नहीं पूर्व विधायक हैं तो पुर्व विधायक स्व0बर्फीया लाल जुंवाठा के सुपुत्र हैं और राजेश भी विधायक रह चुके हैं विधानसभा के अब यह देखना होगा कि क्या भाजपा राजेश के प्रतिनिधित्व पर भरोसा करतें हैं या नहीं यह सवाल जितना चुनौतीपूर्ण है उतना ही राजनैति मायाजाल में उलझा है।
सुत्रों से प्राप्त जानकारी से अवगत हुआ कि पूर्व विधायक राजेश जुंवाठा का चुनाव लड़ना लगभग तय है पार्टी यदि टिकिट भी देगी तो लडे़गे और टिकट काटेगी तो भी राजेश बगावती स्वरों के साथ भी चुनाव लड़ सकतें हैं ऐसे राजेश जुंवाठा के नजदीकी सुत्र बतातें हैं अब यह देखना है कि यह सिर्फ राजनैति हवा है या इसमें कोई सच्चाई है यह कुछ समय बाद स्पष्ट हो जायेगा।
पुरोला विधानसभा में मौजुदा समय में भाजपा कांग्रेस के अब कद्दावर तलवारें खींच रहे हैं तो विधायक राजकुमार भी अपनी तैयारी को लेकर कमर कसे हैं अब विधायक राजकुमार के सामने भी बडी़ चुनौती है कि क्या वह उस भरोसे पर कायम हैं या लोगों का भरोसा टूटा है यह सवाल अहम इसलिये हो जाता है कि विधायक राजकुमार के पास पुरोला की सत्ता है और लोगों ने जनाधार दिया है अब फिर से कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लडे़गे तो सामने दो पुर्व विधायक होंगे दोनो राजनीति के धुरंधर हैं दुसरी ओर पूर्व विधायक प्रत्यासी दुर्गेश लाल भी एक बडे़ चेहरे के रूप में सामने हैं अब यह लड़ाई महत्वपूर्ण हो जाती है कि पुरोला की जनता के भरोसे को कौन जीतता है यह सवाल हर एक के जहन में है।

Related posts

छात्र-छात्राओं से ई-संवाद, देश की सेवा हो जीवन का लक्ष्य – सीएम त्रिवेन्द्र

PradeshNews24x7.com

दुःखद खबर – सामाजिक कार्यकर्ता और राजनीति के कर्णधार राम प्रसाद नैथानी का निधन।

PradeshNews24x7.com

राष्ट्रपिता महात्मा गांधी एवं पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री ने इस देश के समग्र विकास के लिए किया है संघर्ष – विधानसभा अध्यक्ष

PradeshNews24x7.com