Home अभी-अभी आखिर कब बनेगा राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा का जर्जर भवन ?

आखिर कब बनेगा राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा का जर्जर भवन ?

109
0
SHARE

अरविन्द थपलियाल

उत्तरकाशी : उत्तराखंड सरकार शिक्षा के गुणवता और मार्डन शिक्षा की बात जरूर करती है लेकिन प्रखडं डुंडा के राजकीय इंटर कालेज जुणगा का यह इंटर कालेज का भवन तो सरकारी सिस्टम की पोल खोल रहा हैं।

जी हां जहां बर्षाती पानी इतना टपकता है कि बच्चों को विधालय से घर भेजना पड़ता है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य और भाजपा के वरिष्ठ नेता लक्ष्मण सिहं भंडारी बतातें हैं कि वह राजकीय इंटर कालेज जुणगा के जर्जर भवन की सुचना सीएम से लेकर डीएम तक को दे चुके हैं लेकिन अभीतक किसी प्रकार की कोई कार्यवाही नहीं हुई।

क्या है राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा की मौजूदा स्थिति

राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा में मौजदा समय में 231छात्र और छात्राओं की संख्या है और यह कॉलेज राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय से हाईस्कुल 1990में हुआ और इंण्टरमिडियट का उच्चीकरण वर्ष 2011में हुआ।
अब इंटर कालेज के उच्चीकरण को लगभग 10वर्ष हो गये हैं और हाईस्कुल को लगभग 21वर्ष लेकिन मौजूदा स्थिति भवन की जब जर्जर जैसी हों तो ऐसे में शिक्षा की गुणवता की बात करना बेईमानी होगी?
राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा में जर्जर और मरम्मतहीन भवन है और विद्यालय भवन की दशा इतनी खराब है जिसका भगवान मालिक है।

इस मामले पर पूर्व जिला पंचायत सदस्य एवं समाज सेवा से गहरा नाता रखने वाले भाजपा नेता लक्ष्मण सिहं भंडारी ने शिक्षा व्यवस्था को लेकर और जर्जर भवन को लेकर सवाल उठाये हैं। उन्होंने कहा कि आखिर इस जर्जर भवन के निचे कैसे होगा पठन पाठन, कैसे होगी नौनीहालों की पढाई यह सवाल जितना अहम है उतना ही गंभीर भी हैै?

विद्यालय प्रखडं डुंडा के जनपद उत्तरकाशी में आता है जहां की स्थिति बडी़ दयनीय है। लोगों में और छात्र-छात्राओं में इस बात के लिये भय की स्थिति रहती है कि कभी विधालय भवन की छत्त ना उड़ जाये ऐसे में प्रदेश की मार्डन शिक्षा की बात करनी वाली सरकार पर सवाल उठाना गलत नहीं होगा ?


राजकीय इंटर कॉलेज जुणगा के भवन की स्थिति को देखते हुए शिक्षा विभाग के अधिकारियों और शासन-प्रशासन को संज्ञान लेते हुए छात्रों के जीवन से जुड़े इस मामले को गंभीरता से लेना चाहिए।