April 21, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • Video : कैम्पटी फॉल में आये पानी के सैलाब में 21 दुकाने क्षतिग्रस्त लाखों का नुकसान, पर्यटकों के फाल पर जाने से रोक।
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून समस्या

Video : कैम्पटी फॉल में आये पानी के सैलाब में 21 दुकाने क्षतिग्रस्त लाखों का नुकसान, पर्यटकों के फाल पर जाने से रोक।

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी : मसूरी के ख्याति प्राप्त पर्यटक स्थल कैम्पटी में अचानक भारी मात्रा में झरने का पानी बढ़ जाने के कारण बाढ़ सी स्थिति पैदा हो गयी व लोगों को जान बचाकर भागना पड़ा। कई दुकानों में पानी भर गया व पर्यटक पानी में फंस गये जिन्हें पुलिस व स्थानीय लोगों ने बचाया।

कैम्पटी फॉल घूमने गये पर्यटकों को उस समय भारी परेशानी का सामना करना पड़ा जब फॉल में पानी की मात्रा अचानक बढ़ गई जिससे जान सांसत में पड़ गई वहीं स्थानीय लोगों मे भी दहशत का माहौल बन गया। मसूरी में हुई मूसलाधार बारिश के कारण फाल का पानी इतना बढ़ गया कि पूरा फाल उफना गया। व फॉल में पडे़ बडे़ बडे़ बोल्डरों के कारण पानी ने रूख बदल लिया व दुकानों व मुख्यमार्ग की ओर आ गया। पानी के इस रौद्र रूप को देख लोगों में दहशत व्याप्त हो गई व लोगों ने इधर उधर सुरक्षित स्थानों पर भाग कर जान बचाई। जिस समय पानी बढ़ा उस समय काफी संख्या में पर्यटक भी वहां मौजूद थे। पानी की भयावहता इस बात से जानी जा सकती है कि वह दुकानों में जा घुसा वहीं उसके अपना रास्ता बदला व सड़क की ओर आ गया। जिसके कारण फाल पर करीब 180 पर्यटक बुरी तरह फंस गये जिन्हें बचाने के लिए स्थानीय लोगों ने प्रयास शुरू किए व पुलिस को सूचित किया। पुलिस भी तत्काल के साथ स्थानीय युवक मौके पर गये व सभी पर्यटकों को कड़ी मशक्क्त के बाद रस्सों के सहारे सुरक्षित निकाल लिया गया। इस दृश्य को देख अच्छे खासे लोगों के भी रौंगटे खडे़ हो गये। कैम्प्टी थानाध्यक्ष प्रकाश पोखरियाल ने बताया कि कैम्पटी फाल में पानी मसूरी में हुई भारी वर्षा के कारण बढ़ा जिसके कारण अचानक झरने का जल स्तर बढ़ गया व देखते ही देखते भयानक रूप ले लिया। उन्होंने बताया कि जैसे ही उन्हें सूचना मिली वह रेस्क्यू के उपकरणों के साथ मौके पर पहुंचे व वहां फंसे पर्यटकों जिसमें महिलाएं, बच्चे व व्यस्क थे उन्हें रस्सों के सहारे रेस्क्यू कर बचाया गया। अगर पुलिस समय पर नहीं पहुंचती तो बड़ी दुर्घटना घट सकती थी। वहीं कैम्पटी फॉल के आस पास की 21 दुकानों को भारी नुकसान हुआ है। जिस पर जिला प्रशासन की ओर से तहसीलदार धनोल्टी दयाल सिंह भंडारी ने टीम के साथ मौके पर जाकर नुकसान का जायजा लिया व कहाकि रिपोर्ट डीएम को भेजी जायेगी। कुल मिलाकर बड़ा नुकसान हुआ है। जीएमवीएन के प्रबंधक प्रेम सिंह कंडारी ने बताया कि जीएमवीएन की कैंटीन में भारी पानी आ जाने से सभी लोग दहशत में आ गये व जब लगातार पानी बढ़ता रहा तो सीढी लगाकर दूसरी मंजिल पर जाकर जान बचाई वहीं कैंटीन व आस पास कई पर्यटक फंसे थे जिन्हें पुलिस ने रस्सों के सहारे पहाड़ी की ओर रवाना कर उनकी जान बचाई। उन्होंने बताया कि कैटीन से फ्रिज, गैस के चूल्हें सहित सारा सामान बह गया व जो किराये दार दुकान दार थे उनका भी सारा सामान बह गया व पूरी कैंटीन में मलवा पत्थर बजरी भर गया। वहीं दूसरी ओर फाल के निकट ही ख्यार्सी में भी नाले का पानी इतना बढ़ गया कि रोड पार करना कठिन हो गया यहां तक कि वाहन भी जहां के तहां खडे़ हो गये।जिसके कारण रोड के दोनों ओर गाड़ियों की लंबी कतारें लग गई। चारधाम यात्री भी करीब डेढ़ घंटे से अधिक समय तक फंसें रहे जब नाले का पानी कम हुआ तब जाकर वाहन निकल पाये।

तहसीलदार डीएस भंडारी एवं थानाध्यक्ष प्रकाश पोखरियाल ने बताया कि जिलाधिकारी के निर्देश पर कैम्पटीफाल जाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है जो दुकानदार है उन्हें भी वहां से जाने को कहा गया है। जब तक स्थिति सामान्य नहीं होती तब तक फाल पर पर्यटकों को नही जाने दिया जायेगा। हालांकि अभी एक दिन के लिए बंद किया गया है लेकिन अगर आगामी दिनों में मौसम ऐसा ही रहा तो पर्यटकों फाल पर नहीं जाने दिया जायेगा।

Related posts

जनता की समस्याओं का निपटारा त्वरित गति से हो-डीएम

pradeshnews24x7

पर्यटक ने पंखे से लटक कर आत्महत्या की।

pradeshnews24x7

बड़कोट पुलिस ने लापता युवक को बरामद कर किया परिजनों के सुपुर्द

pradeshnews24x7

Leave a Comment