April 21, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • सीएम त्रिवेन्द्र ने दिल्ली में किसानों के नाम पर हुए उपद्रव को बताया दुर्भाग्यपूर्ण।
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून राजनीति

सीएम त्रिवेन्द्र ने दिल्ली में किसानों के नाम पर हुए उपद्रव को बताया दुर्भाग्यपूर्ण।

जितेन्द्र गौड़

देहरादून : मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने 72वें गणतंत्र  दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री आवास में ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने उपस्थित अधिकारियों, कार्मिकों एवं पुलिस के जवानों को संविधान की प्रस्तावना की शपथ दिलाई।

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र ने प्रदेश वासियों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएं देते हुए राज्य की सुख-समृद्धि की कामना की। स्वतंत्रता आन्दोलन में अपना सर्वोच्च बलिदान देने वाले एवं देश की एकता एवं अखण्डता के लिए कार्य करने वाले स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों का स्मरण करते हुए मुख्यमंत्री ने उनको श्रद्धांजलि दी। उन्होंने कहा कि भारत एक मजबूत गणतंत्र बनकर उभरा है। आज दुनिया की नजर भारत पर है। भारत में वसुधैव कुटुम्बकम की सोच है। आज भारतीय अपनी पहचान के साथ दुनिया में जाता है। सीमित संसाधनों के बावजूद भी देश एव प्रदेश में कोविड काफी नियंत्रण में है। हमारे वैज्ञानिकों ने बहुत कम समय में कोरोना वैक्सीन तैयार की है। भारत कोविड पर पूर्ण नियंत्रण की दिशा में तेजी से आगे बढ़ रहा है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश तेजी से प्रगति के पथ पर अग्रसर है।

साथ ही इस मौके पर भारत विकास परिषद द्वारा गांधी पार्क में आयोजित सामूहिक वन्दे मातरम गायन कार्यक्रम में मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत शामिल हुए। सीएम त्रिवेन्द्र ने कामना करते हुए कहा की यह गणतंत्र दिवस हमारे देश के लिये, हमारे देश की लोकतांत्रिक व्यवस्था के लिये नये आयाम प्रदान करेगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत विकास परिषद द्वारा पिछले लगभग 35 वर्षों से राष्ट्र जागरण, देश भक्ति एवं भारतीय संस्कृति की झलक प्रस्तुत करने से सम्बन्धित कार्यक्रम आयोजित किये जा रहे हैं। आज उनके जन जागरण के कार्यक्रमों का स्वरूप भी व्यापक हो गया है। राष्ट्र जागरण से ओत-प्रोत इस प्रकार के कार्यक्रम उनकी पहचान बन गये हैं।

इस अवसर पर सीएम त्रिवेन्द्र ने कहा कि 26 जनवरी को दिल्ली में किसानों के नाम पर कुछ अराजक तत्वों द्वारा जो कृत्य किया गया वह नहीं होना चाहिए था। जो किसान 26 जनवरी के पर्व पर ऐसा कदम उठाये वह किसान नहीं हो सकता। इस प्रकार की घटना हम सबके लिये चिन्ता का विषय है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जो किसान इस अराजकता फैलाने वाले उपद्रव में शामिल नहीं हुए उन्हें वे नमन करते हैं। हमारे राज्य में इस प्रकार की कोई घटना न हो इसके लिये राज्य सरकार कटिबद्ध है। दिल्ली में जो कुछ हुआ उससे हमारे किसान भाई अच्छी तरह समझ चुके हैं। इस प्रकार सरकारी सम्पत्ति का नुकसान करने का कोई लॉजिक नहीं है, कोई तर्क नहीं हो सकता। केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये कृषि कानून पूर्णतः किसानों के हित में है, इससे किसानों की आये दुगनी होने का लक्ष्य पूरा होगा। उन्होंने कहा कि केन्द्र व राज्य सरकार किसानों के व्यापक हित लिये प्रतिबद्ध है। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने कार्यक्रम में प्रस्तुति देने वाले कलाकारों को सम्मानित भी किया।

इस मौके पर राज्यसभा सांसद नरेश बंसल, मेयर सुनील उनियाल गामा, विधायक हरबंश कपूर, खजानदास के साथ ही युद्धवीर सिंह आदि उपस्थित रहे।

Related posts

सिक्योर हिमालय पर हुई गोष्टि का आयोजन

pradeshnews24x7

उत्तराखण्ड औद्योगिक इकाईयों की क्रय वरीयता नीति 2019 में संशोधन एवं आइसक्रीम निर्माण व्यवसासियों को विद्युत कर में दी जाए छूट – विधायक जोशी

PradeshNews24x7.com

मुख्यमंत्री त्रिवेद्रं रावत पंहुचे मोरी विभिन्न योजनाओं का किया लोकार्पण और शिलान्यास और मोरी मे की डीग्री कॉलेज खोलने की घोषणा।

PradeshNews24x7.com