Home अभी-अभी लव जेहाद पर कड़ा कानून बना सख्ती से पालन कराया जाना चाहिए-...

लव जेहाद पर कड़ा कानून बना सख्ती से पालन कराया जाना चाहिए- महामंडलेश्वर कैलाशानंद

20
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : मसूरी एक कार्यक्रम में पहुंचे महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी महाराज ने कहा कि मसूरी हिमालय से सटा होने के कारण यहां का वातावरण हिमालय जैसा ही है व आभामंडल में हिमालय का स्वरूप दिखाई देता है। जो लोग देश विदेश से मसूरी घूमने आते हैं वे यहां के सौंदर्य, प्रकृति व यहां के लोगों से मिलकर इसका भरपूर आनंद लेते हैं तथा उन्हें आंतरिक खुशी मिलती है। उन्होंने बताया कि वह सवाय होटल में चल रहे शब्दों की घाटी कार्य क्रम के अंतिम सत्र का उदघाटन करने आये थे यह विराट सम्मेलन था लेकिन कोरोना संक्रमण के चलते इसे वर्चुअल किया गया।

मसूरी आये महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी ने हरिद्वार में होने वाले कुंभ के बारे में कहा कि हरिद्वार के होने वाला कुंभ का भव्य आयोजन किया जायेगा इसको लेकर संतो व अखाड़ा परिषद की लगातार बैठकें चल रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना महामारी को देखते हुए सरकार के साथ लगातार बैठकें हो रही है व उसकी गाइड लाइन को ध्यान में रखकर ही आयोजन को सफल बनाया जायेगा। पत्रकारों से बातचीत में महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी ने कहा कि कुंभ को लेकर उनकी प्रदेश के मुख्यमंत्री से बैठक हुई है और आज प्रदेश के नगर विकासमंत्री मदन कौशिक, आखाड़ा परिषद के राष्ट्रीय अध्यक्ष नरेंद्र गिरी जी महाराज, व मन्सादेवी के अध्यक्ष रवीद्र पुरी जी महाराज के साथ हरिद्वार में बैठक होने जा रही है वहीं विगत दो दिनों तक अखाड़ा परिषद की बैठके जूना अखाड़ा में आयोजित की गई। जिसमें कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गये। और कुंभ तक बैठके जारी रहेंगी ताकि किसी प्रकार की कमी न रह जाय। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण को देखते हुए किसी सामान्य जन व असामान्य जन को परेशानी न हो उसी आधार पर व्यवस्था की जायेगी। उन्होंने कहा कि कोरोना को लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व डब्ल्यूएचओ का भाव है कि सभी सुरक्षित रहें लेकिन यह तभी संभव है जब उनकी गाईड लाइन का पालन होगा जिसमें सोशल डिस्टेंश व मास्क जरूरी है। देश में चल रहे लव जेहाद के बारे में उन्होंने कहा कि इस पर सभी राज्यों की सरकारों को कड़ा कानून बनाना चाहिए ताकि ऐसी घटनाएं न हो सकें, पंजाब में एक बहन के साथ हुई घटना निंदनीय है। उन्होेनें कहा कि ऐसा नहीं होता तो जो लोग धर्म परिवर्तन नहीं करा रहे उन्हें जबरन धर्म परिवर्तन कराया जायेगा अन्यथा असामाजिक तत्व उन घटनाओं को अंजाम देंगे जो वह करते आ रहे है। महाराष्ट्र में साधुओं की हत्या पर महामंडलेश्वर कैलाशानंद ब्रहमचारी ने कहा कि महाराष्ट्र व अन्य स्थानों पर साधुओं की हत्या की वह कड़ी निंदा करते हैं उससे साधु समाज हताहत हुआ है। देश के किसी भी कोने में जो साधु रह रहे हैं उनकी सुरक्षा होनी चाहिए व उन्हें सावधान रहना चाहिए क्यों कि साधु संत व जमाती साधु भ्रमण करते हैं उनकी सुरक्षा के लिए कोई खतरा नहीं होना चाहिए और ऐसी घटनाओं का प्रधानमंत्री को संज्ञान लेना चाहिए व जिस राज्य में ऐसी घटना घटे उसके खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र में साधुओं की हत्या पर उन्होंने अभियान चलाया जिसमें पूरे देश के संत समाज का साथ मिला व सभी ने एकत्र होकर साथ दिया।