Home अभी-अभी उत्तरकाशी में धूमधाम से मनाया राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, हुआ सम्मान समहरोह।

उत्तरकाशी में धूमधाम से मनाया राष्ट्रीय शिक्षा दिवस, हुआ सम्मान समहरोह।

111
0
SHARE

अरविन्द थपलियाल

उत्तरकाशी : राष्ट्रीय शिक्षा दिवस के मौके पर श्याम स्मृति वन में शैक्षिक संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह का आयोजन किया गया। शैक्षिक संगोष्ठी का शुभारंभ दीप प्रज्वलित कर जिलाधिकारी मयूर दिक्षित द्वारा किया गया। संगोष्ठी एवं सम्मान समारोह में उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि शिक्षक समाज के लिए प्रेरणादायक और समाज को निर्मित करने वाले हैं। शिक्षक व्यक्तित्व का निर्माण करते हैं। अवसर पर कहा कि वे स्वयं एक शिक्षक के पुत्र हैं और उन्हें एक शिक्षक की जद्दोजहद का पूरा भान है। उन्होंने प्रताप पोखरियाल के पर्यावरणीय कार्यों को सभी के प्रेरणादायी बताया है। मुख्य शिक्षा अधिकारी सेमल्टी जी ने शिक्षकों के कार्य से अभिभूत होते हुए कहा कि वे भी अपने शिक्षकों से प्रेरणा लेते हैं। शिक्षक होने से ज्यादा जरूरी है शिक्षार्थी होना । विशिष्ट कार्य करने वाले ये शिक्षक मिशाल बनेंगे। संगोष्ठी व समारोह में शामिल रुद्रप्रयाग कोटतल्ला राजकीय प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक सतेन्द्र भंडारी के पर्यावरणीय व स्कूली क्रियाकलापों की वीडियो भी दिखाई गयी व दूसरे सत्र में शैक्षिक क्षेत्र में पर्यावरणीय गतिविधियों को बेहतर बनाने हेतु योजना बनाई गयी। शैक्षिक संगोष्ठी में एनआरएमएस के संयोजक डाॅ. तिलक राम प्रजापति ने कहा कि विद्यालयी शिक्षा से उच्च शिक्षा तक पर्यावरणीय गतिविधियों को शामिल किया जाना चाहिए जिससे छात्रों में प्रकृति प्रेम व पर्यावरणीय सचेतना विकसित की जा सके। कार्यक्रम में जिलाधिकारी महोदय के करकमलों से डायट बडकोट के प्राचार्य एवं मुख्य शिक्षा अधिकारी उत्तरकाशी वीपी सेमल्टी, रामचंद्र उनियाल राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय प्रोफेसर सविता गैरोला व राष्ट्रीय पुरस्कार प्राप्त संस्कृत महाविद्यालय उत्तरकाशी के सेवानिवृत्त प्राचार्य उमेश प्रसाद बहुगुणा को शिक्षा रत्न सम्मान दिया गया। राजकीय प्राथमिक विद्यालय उत्तरकाशी के शिक्षक राघवेन्द्र उनियाल, रुद्रप्रयाग के शिक्षक सतेन्द्र भंडारी व राजकीय इंटर नागणी टिहरी के शिक्षक पवन कुदवान को टीचर रोल माडल अवार्ड से नवाजा गया। बोर्ड परीक्षा में प्रदेश मेरिट सूची में प्रत्येक वर्ष उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यालय सरस्वती विद्या मंदिर चिन्यालीसौड़ के प्रधानाचार्य एन एल बंगवाल व अल्पाइन पब्लिक स्कूल के संस्थापक मेजर आर एस जमनाल को गुरु गौरव रत्न सम्मान दिया गया। इसी प्रकार शिक्षक रत्न सम्मान भी दिया गया जो राजकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय उत्तरकाशी के वनस्पति विज्ञान के विभाग प्रभारी डाॅ. महेन्द्र पाल सिंह परमार व इसी कालेज के अन्य शिक्षक डाॅ. भरत सिंह राणा, कमल कुमार बिष्ट, डाॅ. एम पी तिवारी, डाॅ. विश्वनाथ राणा, डाॅ. कैलाश सिंह रावत, इसी क्रम में माध्यमिक शिक्षा से सुंदर नौटियाल, मगनेश्वर प्रसाद नौटियाल, संजय जगूड़ी, जमुना प्रसाद उनियाल, मुरली मनोहर भट्ट, चन्द्र पाल सिंह राणा, विजय प्रकाश भट्ट, भगवती उनियाल, अनिल बहुगुणा, डाॅ. द्वारिका प्रसाद नौटियाल तथा प्राथमिक व उच्च प्राथमिक शिक्षा से राजेन्द्र बधानी, संगीता जोशी, रमा डोभाल (सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापिका), राजीव सेमवाल, बलबीर सिंह पंवार, टिहरी जनपद के संजय कोठारी को प्रदान किया गया। इस अवसर पर श्याम स्मृति वन संस्थापक पर्यावरण प्रेमी प्रताप सिंह पोखरियाल, संस्था के सचिव मुरारी सिंह पोखरियाल, वरिष्ठ फिजीशियन डाॅ. प्रेम पोखरियाल, एनआरएमएस के संयोजक डाॅ. तिलक राम प्रजापति, रेणुका समिति के अध्यक्ष संदीप उनियाल व डाॅ. शम्भू प्रसाद नौटियाल आदि मौजूद थे।