Home अभी-अभी आप पार्टी ने मुकदमें करने को जनता की आवाज दबाने व द्वेष...

आप पार्टी ने मुकदमें करने को जनता की आवाज दबाने व द्वेष भावना की कार्यवाही बताया।

SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : आम आदमी पार्टी ने लाइब्रेरी हवाघर में पत्रकार वार्ता में प्रदेश की भाजपा सरकार पर आरोप लगाया कि वह द्वेष भावना से कार्य कर रही है, सिफन कोर्ट से बेघर किए गये लोगों के लिए प्रदर्शन करने वालों पर 25 से अधिक मुकदमें महामारी की धारा के किए गये जबकि जिस दिन इन मजदूरों को बेघर किया जा रहा था उस दिन करीब पांच सौ पुलिस, व दो सौ नगर पालिका के कर्मचारी एकत्र थे तो क्या उनके लिए महामारी नहीं थी उन पर क्यों कार्रवाई नहीं की गई।

पत्रकार वार्ता को संबोधित करते हुए आप पार्टी मसूरी विधानसभा प्रभारी नवीन प्रसाली ने कहा कि आम आदमी पार्टी ने सिफन कोर्ट के मजदूरों के समर्थन में प्रदर्शन किया जिस पर पुलिस व प्रशासन ने दमनात्मक कार्रवाई की लेकिन उसके बावजूद क्रांतिकारी साथियों व सिफन कोर्ट के संघर्षशील साथियों के संकल्प से सफल हुए। उन्होंने कहा कि सिफन कोर्ट का मामला सरकार की कुशासन व दमनकारी नीति का उदाहरण है, सरकार बदले की भावना से कार्य कर रही है, क्यों कि जब अन्य लोग व सत्ताधारी पार्टी के लोग, विधायक भीड़ करते हैं तो उनके लिए पूरी छूट है, प्रशासन व पुलिस ने जिस दिन इन मजदूरों के आवास छीनने का प्रयास किया उस दिन भारी संख्या में पुलिस व पालिकाकर्मी मौजूद रहे उन पर महामारी का कोई मामला दर्ज नहीं किया गया, कोविड के नियम क्या आम आदमी के लिए ही हैं। शासन व प्रशासन बेलगाम हो चुका है। आम आदमी पार्टी चेतावनी देती है कि सरकार अपनी कार्यप्रणाली को बदले अन्यथा आम आदमी पार्टी पूरे प्रदेश में आंदोलन कर भाजपा की इस जनविरोधी सरकार को उखाड़ फेंकने का कार्य करेगी। सरकार की दमनकारी नीति से पार्टी दबने वाली नही है। उन्होंने कहा कि पार्टी अध्यक्ष अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व में पार्टी आम जनता की समस्याओं के साथ खड़ी रहेगी। उन्होंने कहा कि सिफन कोर्ट तो उदाहरण है पूरे प्रदेश में ऐसी घटनाएं हो रही हैं, पहाड़ों में पानी बिजली, चिकित्सा, सड़के, शिक्षा की समस्यायें हैं उस ओर सरकार का ध्यान नहीं है, आम आदमी पार्टी राज्य के शहीदों के सपनों को साकार करने के लिए प्रतिबद्ध है, उनके हक व न्याय तथा सरकार की दमनकारी नीतियों के विरोध में पार्टी संघर्ष करती रहेगी। उन्होंने कहा कि पालिकायक्ष व विधायक के मजदूर विरोधी होने से यह समस्या पैदा हुई है। उन्होंने कहा कि एक ओर सरकार छत देने की बात करती है वहीं दूसरी ओर छत उजाड़ने का कार्य कर रही है। इस मौके पर पार्टी के शहर अध्यक्ष सुमन पंवार, महामंत्री अंकुश सैनी, महिला मोर्चा अध्यक्ष भावना गोस्वामी सहित पार्टी कार्यकर्ता व सिफन कोर्ट के मजदूर मौजूद रहे।