April 21, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी की पहली वर्षगांठ।
अभी-अभी उत्तरकाशी उत्तराखंड चमोली

गैरसैंण ग्रीष्मकालीन राजधानी की पहली वर्षगांठ।

अरविन्द थपलियाल

गैरसैंण/उत्तरकाशी : 4 मार्च 2020 का दिन था, राज्य के मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत  ने बजट सत्र के दौरान राज्यवासियों के सपनों की राजधानी गैरसैंण को राज्य की राजधानी का दर्जा देते हुए ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित किया. यह महज एक घोषणा नहीं बल्कि लाखों उत्तराखंडियों के एक सपने का पूरा होना था, वह उन शहीदों की शहादत को नमन था। जिन्होंने इस पहाड़ी राज्य के लिए अपनी जान की कुर्बानी दी। गैरसैंण को राजधानी घोषित करने की पहली सालगिरह पर संयोग ही है कि राज्य सरकार आज गैरसैंण में ही थी और इस मौके का जश्न मनाना भी लाजिमी था।

गैरसैंण में बजट सत्र के लिए मौजूद गंगोत्री विधायक गोपाल रावत ने राजधानी घोषित होने की सालगिरह के मौके पर दिया जलाकर राज्य आंदोलन में शहादत देने वाले आंदोलनकारियों को श्रद्धांजलि दी और इस मौके पर आयोजित कार्यक्रम में हिस्सा लिया. विधायक गोपाल रावत  ने कहा कि गैरसैंण को राजधानी बनाना राज्य आंदोलन की आत्मा थी और त्रिवेंद्र सिंह रावत सरकार ने लाखों आंदोलनकारियों के इस सपने को पूरा किया है. उन्होंने कहा कि गैरसैंण राजधानी बनाना केवल और अब इसे मंडल का स्वरूप देना राज्य आंदोलन के मूल का सम्मान करना है और देश के पूर्व प्रधानमंत्री  अटल बिहारी वाजपेयी जी ने राज्य गठन की जो सौगात दी उसे मुख्यमंत्री  त्रिवेंद्र सिंह रावत  विकास पथ पर आगे बढ़ा रहें हैं।

Related posts

पूज्य स्वामी चिदानन्द सरस्वतीजी हुये लाइफ टाइम अचीवमेंट अवार्ड से सम्मानित

Pradesh News24x7

भाजपा, कांग्रेस विधायकों ने किए अपनी जीत के दावे

pradeshnews24x7

लाइब्रेरी में भारी बारिश के चलते पुश्ता ढहा, मकान को खतरा।

pradeshnews24x7