April 18, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • ईको शुल्क से मिलने वाले धनराशि को शहर की सफाई व्यवस्था पर किया जायेगा खर्च।
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून सामान्य

ईको शुल्क से मिलने वाले धनराशि को शहर की सफाई व्यवस्था पर किया जायेगा खर्च।

कपिल मलिक

मसूरी : नगर पालिका परिषद कोल्हू खेत में ईको बैरियर लगाकर शुल्क लेती है जिसको शहर की सफाई व्यवस्था एवं पर्यावरण संरक्षण के लिए खर्च किया जा रहा है। यही कारण है कि मसूरी की सफाई व्यवस्था में लगातार सुधार हो रहा है। नगर पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने बताया कि पालिका द्वारा कोल्हूखेत में जो ईको शुल्क लिया जा रहा है उसको शहर की सफाई व्यवस्था और पर्यावरण सरंक्षण पर खर्च किया जाता है। जबकि पूर्व में इस राशि का उपयोग अन्य कार्यों में किया जाता रहा है। उन्होंने कहा कि पालिका को ईको शुल्क से हर साल करीब ढाई करोङ की आय होती है। जिसे पहाङो की रानी मसूरी को साफ और सुंदर बनाने में खर्च किया जा रहा है। जिसमें पूरी पार दर्शिता रखी जा रही है। इस ईको शुल्क से पालिका को स्वच्छता में बड़ा सहारा मिला है यह किसी वरदान से कम नही है। नगर पालिका अध्यक्ष अनुज गुप्ता ने शुल्क  किस किस से लिया जाता है के सवाल के जवाब में कहा कि मसूरी के स्थानीय वाहनों सहित उत्तरकाशी और टिहरी जाने वाले वाहनों को ईको शुल्क से मुक्त रखा गया है। किसी भी प्रकार से इन दो जनपदों सहित मसूरी के स्थानीय नागरिकों के वाहनों से शुल्क नही लिया जायेगा इसके लिए ईको शुल्क संचालन कर रही संस्था को साफ निर्देश दिए गये है। उन्होने कहा कि ईको शुल्क से पालिका को हर साल ढाई करोङ की आय होती है इस पैसे को शहर की सफाई व्यवस्था और पर्यावरण सरंक्षण में खर्च किया रहा है। उन्होने बताया कि एक फरवरी से मसूरी से लेकर देहरादून रोङ के मसूरी पालिका क्षेत्र के सभी मैगी प्वाइंट के आसपास बङा सफाई अभियान चलाया जायेगा। सफाई अभियान पर खर्च होने वाली धनराशि भी ईको शुल्क की मद से खर्च किया जायेगा। उन्होने बताया कि आने वाले समय में पहाङो की रानी मसूरी साफ और सुंदर दिखाई देगी। इसके लिए शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सफाई अभियान चलाया जायेगा। नगर पालिका अध्यक्ष ने बताया कि अगर पालिका को ईको शुल्क से आय नही होती तो शहर की सफाई व्यवस्था पूरी तरह से ठप्प हो जाती है। उन्होने बताया कि आने वाले समय में पहाङो की रानी मसूरी नए रंग रुप में लोगो दिखाई देगी। वहीं कहा कि पर्यटन सीजन से पहले मसूरी पुरी तरह से गंदगी से मुक्त हो जायेगी। उत्तरकाशी और टिहरी जाने वाले यात्रियों की शिकायत पर पालिका अध्यक्ष ने साफ कहा कि इन दोनो जनपदों के वाहनों को ईको शुल्क से मुक्त रखा गया है। उन्होने कहा कि ईको शुल्क व्यवस्था में करीब 150 से अधिक लोगों को रोजगार मिला है। साथ ही उन्होने कहा कि डोर टू डोर कूङा उठाने की व्यवस्था कीन संस्था के माध्यम से की जा रही है उस पर खर्च होने वाली राशि भी ईको शुल्क से खर्च की जा रही है।

Related posts

स्व. मुलायम सिहं राणा स्मृति सम्मान का आर्यन छात्र संघठन ने किया आयोजन।

PradeshNews24x7.com

लघु फिल्म की शूटिंग ने किया कोरोना के सूनेपन को समाप्त।

PradeshNews24x7.com

महेश चंद ने कहा देश विरोधी नारे नहीं लगे यह मुझे फंसाने की साजिश है।

pradeshnews24x7