Home अभी-अभी अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों ने वेतन न मिलने पर अनिश्चित कालीन कार्य...

अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों ने वेतन न मिलने पर अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार किया।

61
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों ने दो माह से वेतन न मिलने पर प्रदेश सरकार के खिलाफ अनिश्वित कालीन कार्य बहिष्कार किया व विद्यालय प्रांगण में धरना देकर विरोध प्रकट किया।
मसूरी मेें सनातन धर्म गल्र्स इंटर कालेज, आरएन भार्गव इंटर कालेज, सेंट लारेंस हाई स्कूल, निर्मला इंटर कालेज व मसूरी गल्र्स इंटर कालेज में शिक्षकों ने दो माह से वेतन न मिलने पर प्रदेश सरकार के खिलाफ प्रदेश स्तरीय अनिश्चित कालीन कार्य बहिष्कार शुरू कर दिया। शिक्षकों का कहना है कि गत दो माह से वेतन न मिलने के कारण शिक्षकों को घर चलाने में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है वहीं दीपावली पर्व होने पर सभी मायूसी का माहौल बना है। उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षक संघ के जिला उपाध्यक्ष सेमुअल चंद ने कहा कि त्योहारी सीजन होने के बावजूद प्रदेश सरकार ने अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों को वेतन नहीं दिया है जिससे शिक्षकों में आक्रोश है। शिक्षकों ने निर्णय लिया है कि जब तक वेतन नहीं मिलता तब तक धरना प्रदर्शन व कार्य बहिष्कार जारी रहेगा। माध्यमिक शिक्षक संघ शाखा मसूरी के अध्यक्ष विजय भटट ने बताया कि उत्तराखंड माध्यमिक शिक्षक संघ देहरादून के आहवान पर मसूरी नगर क्षेत्र के सभी सहायता प्राप्त विद्यालयों के शिक्षकों ने कार्य बहिष्कार कर विद्यालयों में धरना दिया। उन्होंने कहा कि सरकार के अशासकीय विद्यालयों के प्रति उपेक्षापूर्ण व्यवहार विगत दो माह से भुगतान न होने के कारण प्रथम चरण में कार्य बहिष्कार शिक्षकों ने अपने अपने विद्यालयों में किया जबकि अशासकीय विद्यालयों के शिक्षकों ने कोरोनाकाल में भी अपने दायित्वों का निर्वहन किया उसके बाद भी वेतन न देने से शिक्षकों को त्योहारी सीजन में आर्थिक व मानसिक परेशानियों से जूझना पड़ रहा है। उन्होंने बताया कि आरएन भार्गव में शिक्षकों ने प्रधानाचार्य अनुज तायल को ज्ञापन दिया जिसमें रंजना पंवार विमला गौड, नरेश चंद कोटनाला सहित शिक्षक शामिल थे।