April 19, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • उत्तराखंड
  • हिमवीरों की मुख्यधारा में 13 युवा अधीनस्त अधिकारी शामिल जिसमें 12 महिलाएं।
उत्तराखंड देश देहरादून सामान्य

हिमवीरों की मुख्यधारा में 13 युवा अधीनस्त अधिकारी शामिल जिसमें 12 महिलाएं।

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी। भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल अकादमी में आयोजित भव्य दीक्षांत समारोह में 13 युवा उपनिरीक्षक बल की मुख्यधारा हिमवीरों में शामिल हो गये। इस मौके पर अकादमी के निदेशक आईजी पीएस पापटा ने सभी को बधाई दी व कहा कि बल में लिए गये प्रशिक्षण का उपयोग आने वाले समय में होने वाली चुनौतियों से निपटने में कुशलता से करें।

भारत तिब्बत सीमा पुलिस बल अकादमी के परेड मैदान में आयोजित दीक्षांत एवं शपथ ग्रहण समारोह में बतौर मुख्य अतिथि अकादमी के निदेशक एवं आईजी प्रताप सिंह पापटा ने कहा कि आज का दिन उन सैन्य अधीनस्त अधिकारियों के लिए अति महत्वपूर्ण है जिस दिन वह अंतिम बाधा पार कर बल की मुख्यधारा में शपथ ग्रहण कर शामिल हो रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन नव सैन्य अधीनस्त अधिकारियों को युद्ध कौशल, शस्त्र संचालन, शारीरिक प्रशिक्षण, आसूचना, मानचित्र अध्ययन, सैन्य प्रशासन, विधि व मानव अधिकार सहित सैन्य व पुलिस संबंधी विषयों का गहन प्रशिक्षण दिया गया। उन्होंने नव सैन्य अधीनस्त अधिकारियों का आहवान किया कि वे प्रशिक्षण प्राप्त कर बल की मुख्यधारा से जुड़ चुके हैं अब वे जहां भी जायें अपने प्रशिक्षण का लाभ लेकर चुनौतियों को मुकाबला धैय व संयम से करें। इससे पूर्व उपनिदेशक अकादमी एवं ब्रिगेडियर राम निवास ने सभी का स्वागत किया व कहा कि इन प्रशिक्षु अधीनस्त अधिकारियों को एक वर्ष का कठिन प्रशिक्षण देकर तैयार किया गया है। उन्होंने सभी को बधाई दी व विशेष कर उनके अभिभावकों को भी बधाई दी जिन्होंने अपने बच्चों को देश सेवा में समर्पित करने का निर्णय लिया। इस मौके पर देश व बल के झंडे के साथ नव अधीनस्त अधिकारियों को शपथ दिलाई गई। व बाद में नव सैन्य अधीनस्त अधिकारियों के कंधों पर अभिभावकों व अधिकारियों ने सितारे सजाये जिस पर अधीनस्त अधिकारियों ने टोपियां उछाल कर खुशी का इजहार किया। अंत में अकादमी के सेनानी प्रशासन परमिंदर सिंह ने सभी का आभार व्यक्त किया।

बाक्स- बल की मुख्य धारा में शामिलि 13 नव सैन्य अधीनस्त अधिकारियों में 12 युवतियां है व एक युवक है जिसमें उत्तर प्रदेश के 7, हरियाणा, राजस्थान, उत्तराखंड, बिहार, झारखंड व छत्तीसगढ़ से एक एक हैं। प्रधानमंत्री के बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओं के नारे को धरातल पर लाने का यह एक उदाहरण है। अकादमी के निदेशक पीएस पापटा ने बताया कि बल में लगातार महिलाएं जुड़ रही हैं जो जवान से लेकर अधिकारी स्तर तक हैं। तथा सीमा सुरक्षा से लेकर वीआईपी सुरक्षा, तक के सभी क्षेत्र में निष्ठा से कार्य कर रही हैं,उन्होंने यह भी बताया कि प्रशिक्षण के दौरान महिलाओं की पूरी सुरक्षा व्यवस्था की जाती है।

प्रशिक्षु अधिकारियों को दीक्षांत समारोह के दौरान उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया जिसमें उपनिरीक्षक सुमन पंवार को सर्वोत्तम प्रशिक्षाणार्थी और अंतरिम प्रशिक्षण क्रियाक्लापों के लिए प्रथम पुरस्कार दिया गया। वहीं उपनिरीक्षक दीपिका देवी को वाहय प्रशिक्षण क्रिया क्लापों में प्रथम और सर्वोत्तम निशाने बाज का पुरस्कार दिया गया।

 

Related posts

मौसम ने करवट बदली कड़ाके की सर्दी ने बढाई लोगों को परेशानी।

pradeshnews24x7

हर ब्लॉक में बनेंगे दो-दो अटल आदर्श विद्यालय, जल्द लाई जाएगी नई खेल नीति, खेल विशेषज्ञों और खिलाड़ियो से लिए जा रहे सुझाव।

PradeshNews24x7.com

जनता के विरूद्ध सत्याग्रह

Pradesh News24x7

Leave a Comment