April 19, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • वाहन मुक्त हो मसूरी माल रोड – किरन बेदी
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून सामान्य

वाहन मुक्त हो मसूरी माल रोड – किरन बेदी

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी। पुंडुचेरी की उपराज्यपाल किरन बेदी ने कहा कि मालरोड को वाहनों से मुक्त किया जाना चाहिए,केवल अतिआवश्यक सर्विस के वाहनों के अलावा सभी वाहनों पर प्रतिबंध लगाया जाना चाहिए। तभी पहाड़ों की रानी मसूरी की मालरोड को बचाया जा सकता है।

लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी के दौरे पर आई पुंडुचेरी की उपराज्यपाल पूर्व आईपीएस किरन बेदी ने कहा कि मसूरी उनकी ही नहीं देशवासियों का चहेता हिल स्टेशन है। यहां के खुशगवार मौसम का आनंद लेने बड़ी संख्या में देशभर से खासकर उत्तर भारत के पर्यटक मसूरी व नैनीताल आते हैं। व यहां की सुंदर वादियों के साथ शीतल व शुद्ध हवा का का आनंद लेते हैं व यहां आकर रिलेक्स होते हैं। लेकिन देखा जा रहा है कि मालरोड पर वाहनों का अत्यधिक दबाव बढ़ गया है जो ठीक नहीं है। मालरोड पर वाहन पूरी तरह प्रतिबंधित होने चाहिए। जो सामान ढोने वाले वाहन या सर्विस देने वाले वाहन हैं उनका समय निर्धारित किया जाना चाहिए। ये सारी व्यवस्थाएं रात्रि को सूर्यास्त के बाद यानि रात्रि भोजन के बाद से लेकर प्रातः सूर्योदय से पूर्व तक की जानी चाहिए। इसमें सफाई व्यवस्था ही शामिल की जानी चाहिए। उन्होंने कहा कि लोग मसूरी घूमने क्यों आते हैं, वे केवल यहां की शुद्ध शीतल हवा लेने आते हैं, लेकिन अब यहां कंक्रीट के जंगल लगातार बढ़ रहे हैं। मैदानी क्षेत्रों में ऐसी शुद्ध हवा नहीं है वहां की हवा में धुआं व जहर घुल गया है इसलिए हमारा कर्तव्य है कि मसूरी की माल रोड को बचाने के हर संभव प्रयास किए जायें। उन्होंने बताया कि उन्होंने उत्तराखंड के डीजीपी अनिल रतूड़ी व एसएसपी से कोतवाल भावना कैंथोला के माध्यम से संदेश पहुंचा दिया है कि मालरोड पर शाम के समय वाहनों को पूरी तरह प्रतिबंधित किया जाय। मसूरी आने वाला पर्यटक भले ही अन्य आसपास के प्र्यटक स्थलों पर घूमता है लेकिन मालरोड को घूमे  बिना नहीं रह सकता वहीं उसे रिलेक्स मिलता है। मालरोड पर लोग शाम को घूमने खानेपीने व शापिंग करने आते हैं। अगर मालरोड पर वाहनों पर रोक लगेगी तो इससे पर्यटन भी बढेगा और व्यापार भी बढ़ेगा।

लालबहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासनिक अकादमी में तीन दिवसीय इंटर सर्विसेज मीट के समापन पर आई पुंडुचेरी की उपराज्यपाल किरन बेदी ने मीट में आये अधिकारियों को नसीहत दी किे अधिकारियों ने अपने इंटरव्यू में जो वादे किए थे कि वे ईमानदार रहेंगे, सेवा करेंगे, जनता से संपर्क करेंगे, सादगी से रहेंगे, हिम्मत से काम करेंगे, उसे न भूलें जो जबाव इंटरव्यू में दिए उसी से नौकरी मिली है, आप राजा महाराजा नहीं हैं सेवक हैं व सेवक बनकर रहें तथा सेवक बनकर कार्य करें। यह सर्विस के अंत तक करें। चरित्र निर्माण करें, एथिक्स बिल्डिंग करें, यह विद स्किल इंटीश्यूशन, नॉलेज विद टूल्स, विद लॉज  विद प्रसीजर्स किया जाय। तभी देश प्रगति के रास्ते पर आगे बढ़ सकेगां।

Related posts

1 अक्टूबर को प्रदेश के करीब 25,000 श्रमिक निकालेंगे रैली

Pradesh News24x7

तीज महोत्सव कार्यक्रम में महिलाओं ने प्रतिभा दिखाई।

Pradesh News24x7

कारगिल दिवस को शौर्य दिवस के रूप में मनाने को बैठक 11 जुलाई को

pradeshnews24x7

Leave a Comment