April 18, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • बरसात में हो सकती है बड़ी दुर्घटना, बंद नाले नहीं खोले गये।
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून समस्या

बरसात में हो सकती है बड़ी दुर्घटना, बंद नाले नहीं खोले गये।

कपिल मलिक

मसूरी : लगातार बारिश से जहाँ पूरे प्रदेश में परेशानी हो रही है वहीं पहाड़ों की रानी मसूरी में भी लोगों को भारी परेशानी हो रही है। लेकिन प्रशासन व पालिका की ओर से इस दिशा में कोई ठोस कदम नहीं उठाये गये जबकि जिलाधिकारी का कहना है कि सभी विभागों को आवश्यक निर्देश दे दिए गये है।

पहाड़ों की रानी मसूरी में बारिश लगातार हो रही है लेकिन अभी तक पालिका, लोक निर्माण विभाग व एनएच की ओर से कोई भी व्यवस्था की गई नजर नहीं आती। यहाँ तक कि वर्षों से बंद पडे़ नाले तक नहीं खोले गये। अगर हम लाइब्रेरी से किंक्रेग तक की बात करें तो इस मार्ग पर कई नाले हैं जिसमें बरसात में भारी मात्रा में पानी बहता है लेकिन करीब चार नाले ऐसे हैं जो वर्षों से बंद पडे़ है हालांकि इस क्षेत्र में सात नाले हैं। स्थानीय निवासी भगवती प्रसाद कुकरेती ने कहा कि लाइब्रेरी किंक्रेग मार्ग पर करीब चार से अधिक नाले बंद पड़े हैं जिनमें बरसात के दिनों में चलने वाला पानी सड़कों पर बहता है और सड़के नदी का रूप ले लेती है। लेकिन बरसात शुरू होने के बाद भी संबंधित विभाग चाहे वह नगरपालिका हो या लोक निर्माण विभाग या एनएच किसी ने भी इस दिशा में कार्य नहीं किया जबकि बरसात से पहले नाले खाले खोल दिए जाने चाहिए थे रोड के किनारे बनी नालियों को साफ किया जाना चाहिए था। लेकिन अभी तक विभाग की नींद नहीं टूटी है जिसके कारण आम जनता को बारिश में भारी परेशानी उठानी पड़ती है। अगर इस दिशा में सकारात्मक कदम संबंधित विभागों ने नहीं उठाये तो कभी भी बड़ी दुर्घटना हो सकती है। जिसकी जिम्मेदारी संबंधित विभागों की होगी। इस संबंध में जिलाधिकारी एस मुरूगेशन का कहना है कि बरसात को देखते हुए संभी विभागों को अलर्ट कर दिया गया है व आवश्यक निर्देश दिए गये है। व नालों खालों को खोलने के साथ ही एसडीआरएफ आदि को अलर्ट किया गया है। वहीं प्रशासन को भी अलर्ट रहने के लिए कहा गया है।

वहीं दूसरी ओर मसूरी में कई ऐसे स्थान हैं जहां पर कल्वर्टों को बंद कर अवैध निर्माण किए गये हैं इस ओर आज तक किसी ने ध्यान नहीं दिया। जो भविष्य में कभी भी किसी बड़े हादसे का कारण बन सकते हैं। जबकि ब्रिटिश काल में कल्वर्ट पर विशेष नजर रहती थी लेकिन आज स्थित बदल गई है कई ऐसे निर्माण है जो नालों को पाटकर किए गये हैं ऐसे में नगर प्रशासन व संबंधित विभागों पर सवाल खडे़ होना स्वाभाविक है कि आखिर नालों खालों पर कैसे निर्माण हो गये। वहीं दूसरी ओर नगर पालिका ने कई नालों को पक्का करवाया है यह भी किसी त्रासदी को जन्म दे सकते हैं। क्यों कि नाले केवल बस्ती के आस पास ही पक्के किए जाने चाहिए ताकि कोई दुर्घटना न हो लेकिन पालिका ने अपनों को लाभ पहुंचाने के लिए कई नाले पक्के करवा दिए जो भविष्य में किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बन सकते हैं।

 

 

Related posts

स्टेट यूनियन ऑफ वर्किग जर्नलिस्ट की नई कार्यकारिणी ने ली शपथ

Pradesh News24x7

शीघ्र मुआवजा न मिलने पर धरने पर बैठने की दी चेतावनी।

PradeshNews24x7.com

विधायक जोशी ने किये कम्बल वितरित।

pradeshnews24x7

Leave a Comment