April 18, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • पहाड़ की बेटियां भी किसी से कम नहीं ।। केदारनाथ में 11 हजार फीट पर बेटियाँ चला रही है JCB ।
अभी-अभी उत्तराखंड चमोली सामान्य

पहाड़ की बेटियां भी किसी से कम नहीं ।। केदारनाथ में 11 हजार फीट पर बेटियाँ चला रही है JCB ।

गणेश रयाल

देहरादून : उत्तराखंड में पिछले कई दिनों से लगातार भारी बारिश और जगह जगह भूस्खलन होने से कहीं सड़कें टूटी हैं तो कहीं पहाड़ ही सड़कों में आ गए हैं, ऐसे में जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया है।जिससे चारधाम यात्रा भी पूरी तरह से प्रभावित हो गया है।

खराब मौसम में केदारनाथ जाना खतरे से खाली नहीं है, पहाड़ की आम बोलचाल में लोग बोलते हैं अगर इस मौसम में अगर केदारनाथ जाओ तो कम्बल और कफ़न दोनों साथ लेकर जाओ। लेकिन इन सभी चुनोतिपूर्ण हालातों की फिक्र किये बगैर कुछ लड़कियों ने यहाँ पर ऐसा कुछ कर दिखाया है जिसे जानकर और सुन कर आप भी हैरान हो जायेंगे और आप भी इनके जज्बे को सलाम करेंगे । इन तस्वीरों में जो JCB जैसी भारी भरकम मशीन चलाती लड़कियां दिख रही हैं इन लड़कियों ने तमाम परंपराओं को तोड़ कर केदारनाथ के पुननिर्माण का बीड़ा उठाया है, आपको बता दें ये लड़कियां केदारनाथ के पुनर्निर्माण में नेहरू पर्वतारोहण संस्थान (निम) का हिस्सा बनी हैं। तमाम परंपराओं को तोड़कर जेसीबी जैसी भारी भरकम मशीनें  चला रही लड़कियों में से एक लड़की का नाम नीमा नेगी है जो महज कुछ दिनों में ही जेसीबी मशीन चलाना सीख गई हैं। अब वो आसानी से जेसीबी मशीन चलाकर पुनर्निर्माण कार्य में सहयोग दे रही हैं। नीमा नेगी उत्तराखंड के अगस्त्यमुनि की रहने वाली हैं।

 

तो वहीं केदारनाथ मे उत्तरकाशी की रहने वाली गंगा राणा व वंदना रावत यूथ फाउंडेशन से जुड़ी हुई हैं इसके साथ साथ केदारनाथ में काम कर रही हैं। जेसीबी चलाने के साथ ही गंगा केदारनाथ यात्रा पर आए श्रद्धालुओं को यह भी सिखा रही है कि नदी किस तरह पार करनी है। देखिये किस तहर इस खतरनाक बहती नदी को ये रस्सियों के सहारे हंसते हुए पार कर रही है।

उत्तरकाशी की गंगा राणा व वंदना रावत के साथ रुद्रप्रयाग की गुंजन, कंचन, ममता, किरन, शालिनी, रचना, पूजा, वंदना और अमृता सुरक्षा दीवार के गार्डरों की पेंटिंग सहित स्टोर कीपर और मास्टर स्टोर होल्डर की भूमिका निभा रही हैं। देश की ये सभी बेटियां आने वाले समय में भारतीय सेना का हिस्सा बनना चाहती हैं। टिहरी गढ़वाल की विनिता पंवार केदारनाथ में स्टोन कटर चला रही हैं। नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के सूबेदार मनोज सेमवाल ने बताया कि ये लड़कियां अब मंदिर परिसर, मंदिर मार्ग और चबूतरे के लिए कटवा पत्थरों को तैयार करेंगी।

केदारनाथ में साल 2013 की आपदा के बाद से नेहरू पर्वतारोहण संस्थान के नेतृत्व में पुनर्निर्माण कार्य चला रहा है।और विषम भौगोलिक परिस्थितियों में भी केदारधाम में पुनर्निर्माण कार्य किया जा रहा है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी लगातार केदारनाथ पुनर्निर्माण पर नजर बनाए हुए हैं।जिसके लिए वे लगातार प्रदेश के मुखिया और चीफ़ सेक्रेटरी से भी पुनर्निर्माण का अपडेट ले रहे हैं साथ ही ड्रोन से भी जायजा ले चुके हैं।

 

Related posts

पशुधन कौतिक का हुआ समापन ।। पहाड़ो के लिए उन्नत नस्ल के पशुओ की आवश्यकता – कपड़ा मंत्री

pradeshnews24x7

16 राज्यों पर भारी हैं अगले तीन दिन, मौसम विभाग की चेतावनी

pradeshnews24x7

सफल निर्वाचन के लिए प्रशिक्षण

pradeshnews24x7

Leave a Comment