April 19, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • डबरकोट- मुख्यमंत्री के द्वारा गठित टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण
अभी-अभी उत्तरकाशी उत्तराखंड सामान्य

डबरकोट- मुख्यमंत्री के द्वारा गठित टीम ने किया स्थलीय निरीक्षण

जय प्रकाश बहुगुणा

बड़कोट : डबरकोट से छुटकारा पाने के लिए आज मुख्यमंत्री द्वारा गठित टीम ने यहाँ स्थलीय निरीक्षण कर विकल्प की तलाश की ।यमुनोत्री धाम की यात्रा को सुगम और सरल बनाने के लिए सरकार गम्भीर दिख रही है। यमुनोत्री नेशनल हाईवे का डबरकोट के ट्रींटमेन्ट का रास्ता तलाशा जा रहा है वही यात्रा बाधित न हो इसके लिए वैकल्पिक मोटर मार्ग के विकल्प के लिए यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत के सुझाव पर मुख्यमन्त्री ने तकनीकी सलाहकार आर.पी.भट्ट की अध्यक्षता में पांच सदस्यीय कमेटी को डबरकोट ओजरी भेजा हुआ है , वृहस्पतिवार को यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत सहित कमेटी के सदस्यों ने ओजरी डबरकोट पहुंचकर तकनीकी रूप से सरल व बेहतर मोटर मार्ग के चयन को लेकर स्थलीय निरीक्षण किया।

मालुम हो कि यमुनोत्री धाम को जोड़ने वाला यमुनोत्री हाईवे का डबरकोट लगातार एक साल से नासुर बना हुआ है । पहाड़ी का हर रोज दरकना , बड़े बड़े बोल्डरों का पहाड़ी से गिरने का सिलसिला थमने का नाम नही ले रहा है, 11 दिन बाद एनएच की मशीनों ने डबरकोट में मोटर मार्ग को खोल दिया था और स्यानाचट्टी फंसे तीर्थयात्रियों के वाहनों को निकाल लिया था परन्तु वृहस्पतिवार की रात्री को हुई भारी बारीश के बाद मार्ग अवरूद्व हो गया जिसको खोलने का सिलसिला जारी है। इधर

यमुनोत्री विधायक श्री रावत के सुझाव पर मुख्यमन्त्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने तकनीकी सलाहकार इ. आर.पी. भट्ट के नेतृत्व में चीफ इंजीनियर टिहरी क्षेत्र जी.एस.पांगती , अधीक्षण अभियन्ता अशोक कुमार , एनएच अधिशासी अभियन्ता नवनीत कुमार पाण्डेय , लोनिवि अधिशासी अभियन्ता जे.पी.रतुड़ी को डबरकोट भेजा जिन्होने वृहस्पतिवार को यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत के साथ स्थलीय निरीक्षण किया। यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत ने कहा कि सरकार यमुनोत्री धाम यात्रा को लेकर गम्भीर है और डेन्जर जाॅन बना डबरकोट का स्थाई हल निकालने के अलावा वैकल्पिक मोटर मार्ग का रास्ता तलाशा जा रहा है। शासन से आयी कमेटी हर पहलु पर गम्भीरता से कार्य करते हुए तीन दिन के भीतर सरकार को अपनी रिपोर्ट सौंपेगी । उन्होने कहा यमुनोत्री धाम आने वाले तीर्थयात्रियों की सुविधा सहित स्थानीय लोगों के हितों का भी कमेटी ध्यान रखते हुए अपनी रिपोर्ट देगी। विधायक श्री रावत ने कहा कि एक माह बाद गीठ पट्टी की नगदी फसल का निकलना भी आरम्भ हो जायेगा इससे पहले वैकल्पिक मोटर मार्ग का बनना जरूरी है। उन्होने बताया कि ओजरी के नीचे वैली ब्रीज बनाकर मोटर रोड़ बनाई जायेगी ताकी तीर्थयात्रियों के अलावा आम लोगों को सुविधा मिल सके। मुख्यमन्त्री के तकनीकी सलाहकार इ.आर.पी.भट्ट ने कहा कि शासन ने पांच सदस्यीय कमेटी गठीत कर तकनीकी रूप से वैकल्पिक मोटर मार्ग का विकल्प तलाशने की जिम्मेदारी सौंपी है , कमेटी स्थलीय निरीक्षण करने के बाद तीन दिन के भीतर आंगणन के साथ अपनी रिपोर्ट सरकार को सौंपेगी । उन्होने कहा कि यमुनोत्री नेशनल हाईवे के डबरकोट में आ रही दिक्कत को देखते हुए सरकार ने यह निर्णय लिया । इस मौके पर कमेटी के अलावा यमुनोत्री विधायक केदार सिंह रावत , नारायणपुरी गांव के प्रधान चैन सिंह , जेष्ट उप प्रमुख प्रकाश असवाल, अनिल कुमार , मनमोहन सिंह , शरत सिंह चैहान, जयपाल सिंह सहित दर्जनों ग्रामीण व अधिकारी मौजूद थे।

 

Related posts

होम स्टे पर प्रताप प्रकाश की राय – पढें

PradeshNews24x7.com

स्ट्राबरी बैंक क्षेत्र में सीवर बहने से स्थानीय जनता को हो रही भारी परेशानी।

pradeshnews24x7

पीएम से लेकर सीएम तक सब दोषी हैं मां गंगा के

Pradesh News24x7

Leave a Comment