April 19, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • टापर्स कान्कलेव का उददेश्य एकेडमिक एक्सीलेंस अभिरूचि को बढावा देना है- राज्यपाल डा. केके पाल
अभी-अभी उत्तराखंड देहरादून सामान्य

टापर्स कान्कलेव का उददेश्य एकेडमिक एक्सीलेंस अभिरूचि को बढावा देना है- राज्यपाल डा. केके पाल

गणेश रयाल

देहरादून : प्रदेश के राज्यपाल डा.केके पाल एवं इसरो के पूर्व अध्यक्ष प्रो.एएस किनर कुमार ने राजभवन में टापर्स कान्कलेव का उदघाटन किया। इस मौके पर राज्यपाल पाल ने कहा टापर्स कान्कलेव का मुख्य उददेश्य एकेडमिक एक्सीलेंस अभिरूचि को बढ़ावा देना है।

राजभवन में आयोजित टापर्स कान्कलेव में राज्यपाल डा. केके पाल ने प्रो. किरन कुमार का स्वागत करते हुए उनकी उपलब्धियों की जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रदेश के विद्यार्थियों में तकनीकि विकास एवं आधुनिक ज्ञान के प्रति अभिरूचि को बढावा देना है। यह कान्कलेव अन्य छात्रों के लिए प्रेरणा का स्रोत होगा वहीं यहां दिये जा रहे व्याख्यानों को पुस्तक के रूप में प्रकाशित किया जायेगा जिसे कालेजो व विश्वविद्यालयों को भेजा जायेगा। उन्होंने कहा कि शिक्षा समकालीन होने के साथ ही भविष्योन्मुखी भी होना चाहिए। उन्होंने छात्रों का आहवान किया कि वे स्मार्ट कैंपस के साथ साथ स्मार्ट विलेज का ध्वजवाहक भी बनें। उदघाटन सत्र में मुख्य वक्ता प्रो एएस किरन कुमार ने राष्ट्रनिर्माण में वैज्ञानिक एवं तकनीकि शोध की भूमिका पर व्याख्यान देते हुए मौजूद छात्रों को असफलताओं से सीख लेते रहने को कहा। उन्होंने भारतीय अंतरिक्ष अभियान के प्रारंभिक दिनों की चुनौतियों के बारे में बताते हुए कहा कि शुरूआती असफलताओं के बाद भारतीय वैज्ञानिकों ने दृढ निश्चय एवं लगन से अपना अलग मुकाम बनाया है। कहा कि अंतरिक्ष विज्ञान में चंद्रयान, मंगलयान तथा सेटेलाइट लॉच विकिल्स ने भारत की प्रतिष्ठा में वृद्धि की है। विज्ञान और प्रोद्योगिकी की सर्वश्रेष्ठ उपयोग मानवता की भलाई के लिए किया जाना चाहिए। आज भारतीय उपग्रहों के द्वारा मौसम, कृषि नेविगेशन, टेलीककम्युनिकेशन के क्षेत्र में क्रांति लाई गई है। उन्होंने बच्चों को लर्नि अनलर्निंग और रि लर्निंगके बारे में बताया। उन्होंने कहा कि तकनीकि की दुनिया तेजी से बदलती रहती है। इसलिए युवाओं को सदैव नया सीखने की प्रवृति रखनी चाहिए। कार्यक्रम में शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे ने उपस्थित छात्र छात्राओं को चुनौतियों तथा संघर्षों के सामने हार न मानने की सीख दी वहीं उच्च शिक्ष राज्य मंत्री धन सिंह रावत ने कहा कि उत्तराखं डमें विश्वविद्यालयों मे शेक्षणिक कलेन्डर लागू कर दिया गया है। राज्य के कालेजों में 93 प्रतिशत फैकल्टी नियुक्त है। वहीं कहा कि शीघ्र ही राज्य में देश का पहला ज्ञान कुंभ आयोजित किया जायेगा। इससे पूर्व उत्तराखंड आवासीय विवि के कुलपति प्रो. एचएस धामी ने स्वागत संबोधन दिया। व यूकॉस्ट के महानिदेशक डा. राजेंद्र डोभाल ने धन्यवाद दिया। इस मौके पर राज्यपाल के सचिव रविनाथ रमन सहित राज्य के सभी विवि के कुलपति मौजूद रहे।

Related posts

महारानी क्यो हुई नाराज,योजना के भूमिपूजन के दौरान ग्रामीणों में हुई घक्का मुक्की।

pradeshnews24x7

कोविड-19 से बचाव के लिए राज्य सरकार हर सम्भव कोशिश कर रही – सीएम त्रिवेन्द्र सिंह रावत

pradeshnews24x7

प्राकृतिक संसाधन बने रोजगार का जरिया -रावत

Pradesh News24x7

Leave a Comment