April 14, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • जिलाधिकारी डॉ आशिष चौहान की पहल, कन्ट्रोल रूम में बैठकर लेगें व्यवस्थाओं की जानकारी
अभी-अभी उत्तरकाशी उत्तराखंड समस्या

जिलाधिकारी डॉ आशिष चौहान की पहल, कन्ट्रोल रूम में बैठकर लेगें व्यवस्थाओं की जानकारी

जय प्रकाश बहुगुणा

 उत्तरकाशी :  यात्रा के दौरान जिलाधिकारी प्रत्येक दिन एक घण्टा आपदा कन्ट्रोल रूम में बैठकर यात्रा की संपूर्ण गति विधि व व्यवस्थाओं की जानकारी लेगें। यह बात जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान  ने चारधाम यात्रा की तैयारी को लेकर आपदा कन्ट्रोल रूप का निरीक्षण कर उपजिलाधिकारी एवं आपदा प्रबंधन अधिकारी तथा आपदा प्रबंधन कर्मचारियों के साथ बैठक लेने के दौरान कही। चारधाम यात्रा को सफल संचालन कराने हेतु 15-15 दिनों के लिए नोडल अधिकारी  नामित किया । यात्रा की तैयारी को लेकर कार्यो की प्रगति रिपोर्ट उपलब्ध कराने के निर्देश दिए ।

जिलाधिकारी डा0 चौहान ने उपजिलाधिकारी देवेन्द्र सिह नेगी को गंगोरी में दिये गये निर्देश के अनुसार सभी व्यवस्था को चाकचैबंद करने को कहा। उन्होने गंगोरी में दोनों छोर पर दो सक्रीय पुलिस जवान की तैनाती कर हाकी-डाॅकी से यातायात व्यवस्था को बनाये रखेगें। कहा कि वे यातायात व्यवस्था एवं आगंतुकों के साथ व्यवहारिकता बनाये रखेगें।  उन्होने उपजिलाधिकारी को बायोमेट्रिक के कार्य पूर्ण करने के निर्देश दिये। वहीं सड़क दुर्घटनाओं के प्रति वाहन चालकों को पम्पलेट के माध्यम से जागरूक करें तथा यात्रा रूट के बारे में जानकारी देना सुनिश्चित करेंगे। जिलाधिकारी ने कहा कि तैनात सभी नॉडल अधिकारी को यात्रा व्यवस्था की प्रशिक्षण दिये जायेगे। जिसमें सड़क, सुरक्षा, यातायात, पेयजल, नेटवर्क,  विद्युत, चिकित्सा स्वास्थ्य, शौचालय व स्वच्छता आदि विषय पर प्रशिक्षण देने का निर्देश दिया। उन्होने आपदा प्रबंधन अधिकारी को निर्देशित किया कि तैनात सभी यात्रा नॉडल अधिकारी के साथ प्रत्येक दिन दूरभाष पर समन्वय बनाना सुनिश्चित करेंगे तथा यात्रा की तैयारी को लेकर  बैठकों में लिए गये निर्णय पर की गई कार्यो की त्रुटि रहित प्रगति रिपोर्ट लेकर प्रेषित करें। उन्होंने कन्ट्रोल रूम में तैनात सभी कर्मचारियों को यात्रा से संबंधित सभी कार्यो को त्रुटि रहित संपादित करने के निर्देश दिये। बडेथी से गंगोरी तक यातायात व्यवस्था की सफल संचालन हेतु उपजिलाधिकारी को निर्देशित किया।

जिलाधिकारी डा0 चौहान ने गंगोत्री एवं यमुनोत्री धाम में यात्रा मार्ग पर कानून एवं शान्ति व्यवस्था, मार्ग अवरूद्ध होने पर तत्काल संबंधित विभाग से समन्वय कर मार्ग सुचारू करने एवं यात्रियों की सुगमता व सुरक्षा हेतु संबंधित उपजिलाधिकारी एवं तहसीलदार को अपने क्षेत्रान्तर्गत समुचित व्यवस्थाओ के लिए नाॅडल अधिकारी नामित किया। जिनमें गंगोत्री धाम हेतु तहसीलदार/मजिस्ट्रट भटवाडी, नायव त0 भटवाडी, ना0 त0 जोशियाडा, तहसीलदार डुण्डा, तहसीलदार चिन्यालीसौड व ना0 त0 चिन्यालीसौड़। जबकि यमुनोत्री धाम हेतु तहसीलदार/मजिस्टेªट बडकोट,ना0त0 बडकोट, तहसीलदार पुरोला, ना0त0 पुरोला, तहसीलदार मोरी तथा ना0त0 मोरी को नामित किया गया। जो 18 अप्रैल 2018 से 8 नवम्बर 2018 तक 15-15 दिनों के लिए नोडल अधिकारी के रूप में तैनात रहेगे।

इस अवसर पर उपजिलाधिकारी प्रशिक्षु तुषार सैनी, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, कॉडिनेटर आपदा प्रबंधन कार्यालय जय प्रकाश पंवार एवं संबंधित कर्मचारी उपस्थित थे।

Related posts

मसूरी – स्कूल फीस मामले में हुई बैठक, दिए गये स्पष्ट निर्देश।

PradeshNews24x7.com

ग्रामीण आंचलो में आज भी बुजुर्गो की पहली पसंद है – मशकबीन

PradeshNews24x7.com

छात्रावास की लापरवाही पड़ रही है छात्रों पर भारी।

pradeshnews24x7

Leave a Comment