April 19, 2021
Pradesh News24x7
  • Home
  • अभी-अभी
  • जलागम ने काश्तकारों की नकदी फसल को लाने के लिए रोपवे का निर्माण किया।
अभी-अभी उत्तराखंड टिहरी शिक्षा/रोजगार

जलागम ने काश्तकारों की नकदी फसल को लाने के लिए रोपवे का निर्माण किया।

बिजेंद्र पुंडीर

टिहरी : जौनपुर विकासखंड के नैनबाग क्षेत्र में जलागम के सहयोग से पहली बार काश्तकारों की नकदी फसल को समय से मुख्य मार्ग तक पहुंचाना अब आसान हो जायेगा। इससे जहां एक ओर काश्तकारों को समय की बचत का लाभ मिलेगा वहीं कम खर्च पर कृषि उत्पाद रोड साइड पर पहुंच जायेगा। इससे ग्रामीणों का कृषि के प्रति रूझान भी बढ़ेगा और पलायन को रोकने में भी मदद मिलेगी।

पहाड़ों में काश्तकारों की सबसे अधिक परेशानी कृषि उत्पाद व नकदी फसलों को खेत से सड़क तक पहुंचाने की होती है। जिसमें बहुत खर्च आता है वहीं समय भी लगता है यही कारण है कि काश्तकारों ने खेती करनी कम कर दी। व धीरे धीरे खेती वे विमुख हो रहे हैं। ऐसे में नैनबाग क्षेत्र के ऐंदी मोटर मार्ग पर तावसी तोक खैराड़ से घंसी तोक तक रोपवे का निर्माण किया गया है जिसका सफल ट्रायल किया गया। आने वाले कुछ दिनों में रोपवे का लाभ काश्त कारों को मिलेगा। तावसी खैराड़ से जलागम के यूनिट अधिकारी हरीश चंद्र रतूड़ी के दिशा निर्देशन में रोपवे का सफल ट्रायल किया गया। जिसके तहत घंसी के काम्लानामें तोक से ऐंदी मोटर मार्ग के समीप तावसी तक आम की पेटियां रोपवे से लायी गई। रोपवे के सफल संचालन से ग्रामीणों में खुशी की लहर छा गई। व आने वाले कुछ दिनों में रोपवे का संचालन विधिवत शुरू कर दिया जायेगा। यूनिट अधिकारी जलागम हरीश चंद्र रतूड़ी ने बताया कि उप परियोजना निदेशक यूडीडब्ल्यूडीपी फेस टू नवीन बर्फाल के दिशा निर्देशन में यह जौनपुर विकासखंड में जलागम का पहला रोपवे है तथा अन्य गांवों से भी मांग आ रही है। पहले इसे संचालित किया जायेगा व उसके बाद अन्य प्रोजेक्टों पर कार्य किया जायेगा। उन्होंने बताया कि इस प्रोजेक्ट के लिए यहां के ग्रामीणो न संपर्क किया व उनकी समिति बनाई गई जिसने 66 हजार एकत्र किया व उसके बाद रोपवे का कार्य शुरू किया गया इस योजना में जलागम का करीब सात लाख रूपये का खर्च आया है। रोपवे संचालन का काम समिति करेगी जो ग्रामीणों से प्रति पेटी के हिसाब से मामूली धनराशि लेगी जिसका उपयोग मेंटीनेंस व कर्मचारियों के वेतन पर किया जायेगा। इस मौके पर भद्री कृषक उपयोगकर्ता समूह के अध्यक्ष जगमोहन कंडारी ने कहा कि इस रोपवे से क्षेत्र के ग्रामीणों व काश्तकारों को बहुत लाभ होगा। उन्होंने बताया कि पहले काफी दूर से पैदल या खच्चरो के माध्यम से ढोकर उत्पाद रोड साइड तक लाया जाता था जिसमें समय व अधिक धन खर्च होता था वहीं काश्तकारों की उपज खराब हो जाती थी। लेकिन अब रोपवे के बनने से काश्तकार की नकदी फसल तुरंत रोड साइड पर आयेगी समय की भी बचत होगी व धन का खर्च भी कम होगा। इससे ग्रामीणों को बहुत लाभ होगा। घंसी के प्रधान रमेश कुमार ने बताया कि इस योजना से क्षेत्र को काश्तकारों को बहुत लाभ मिलेगा वहीं जो काश्तकार अब खेती से विमुख हो रहे थे वे वापस खेती की ओर लौटेंगें। वही पलायन भी रूकेगा। इस मौके पर गंभीर रावत, लोकेंद्र उनियाल, किशन नौटियाल, आदि मौजूद रहे।

400 मीटर लंबी इस योजना से क्षेत्र के गावों घंसी, खैराड़ देवन, चिलामू, सल्टवाड़ मातली, मसोन आदि के करीब तीन सौ काश्तकारों को लाभ होगा। इससे काश्तकारों की आय दुगनी करने के केंद्र सरकार के सपने को साकार होगा, पलायन रूकेगा। बताया गया कि रोपवे 400 मीटर लंबी है जिसे एक सिरे से दूसरे सिरे आने पर मात्र एक मिनट तीस सेंकेंड का समय लग रहा है। वहीं जहां काश्तकारों को खच्चरों से ढुलान में प्रतिनग करीब 50 रूपया खर्च आता है वहीं अब एक नग मात्र 10 रूपये में रोड साइड पर पहुचेगा।

Related posts

कोरोना संक्रमण से पर्यटन नगरी को भारी नुकसान, आगे भी संभलने की संभावना नहीं।

pradeshnews24x7

सीजन में रंगीनियों में डूबी रहने वाली पहाडों की रानी कोरोना संक्रमण के चलते पड़ी है खाली।

PradeshNews24x7.com

13 जनपदों की 21 महिलाओं एवं किशोरियों तथा 22 आंगनवाड़ी कार्यकर्तियों को किया गया पुरस्कृत।

PradeshNews24x7.com

Leave a Comment