Home अभी-अभी Video : नवरात्रो पर मां सुरकंडा मंदिर में लग रहा श्रद्धालुओं का...

Video : नवरात्रो पर मां सुरकंडा मंदिर में लग रहा श्रद्धालुओं का तांता।

165
0

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी : नवरात्रों पर मां सुरकंडा के मंदिर में श्रद्धालुओं का दर्शनों के लिए तांता लगा है। सिद्धपीठ मां सुरकंडा सबकी मनोकामना पूरी करती है। कड़ाकें की सर्दी के बाद भी आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों व बाहर से आये श्रद्धालु बड़ी संख्या में मां के दर्शन करने जा रहे है।

नवरात्रों पर मां दुर्गा के विभिन्न रूपों के दर्शन करने के लिए श्रद्धालु मंदिरों में प्रतिदिन जा रहे हैं। वहीं मंदिरों को विशेष रूप से सजाया गया है। इसी कड़ी में मसूरी से 30किमी दूर मां सुरकंडा की शक्तिपीठ है जहां पर नवरात्रों में हजारों की संख्या मे श्रद्धालु मां के दर्शन करने जाते हैं। मां सुरकंडा के पुजारी प. रमेश लेखवार ने बताया कि वैसे तो वर्ष भर श्रद्धालु मां का आशीर्वाद लेने आते हैं पर नवरात्रों में बड़ी संख्या में आसपास के क्षेत्रों सहित देश विदेश से श्रद्धालु आते हैं। लोगों की मान्यता है कि मां सुरकंडा के दर्शन जो निस्वार्थ भाव से व सच्चेमन से करता है उनकी मनोकामनाएं पूरी होती हैं। उन्होंने बताया कि यह मंदिर मां दुर्गा पार्वती का है। शास्त्रों के अनुसार जब भगवान शंकर के ससुर व मां पार्वती के पिता राजा दक्ष ने हरिद्वार में यज्ञ करवाया तो भगवान शंकर को नहीं बुलाया। लेकिन मां पार्वती गई व देखा कि पिता ने उनके पति के बैठने तक का स्थान नहीं बनाया व पूछने पर कहा कि उन्हें इसलिए नहीं बुलाया कि वह इस लायक नहीं है। जिस पर पार्वती को्रधित हो गयी व हवन कुंड में कूद कर सती हो गई। जब शिव को पता चला तो वह को्रधित होकर गये व उनके शव को उठाकर कैलाश की ओर चले तो सुरकंडा में माता सती का सिर गिरा। तब से यह सिद्धपीठ पर मां सुरकंडा के नाम से जानी जाती है। इस मौके पर आये श्रद्धालुओं ने कहा कि यहां आकर आत्मिक शांति के साथ ही प्राकृतिक सौदर्य का भी आनंद मिलता है और जो यहां पर सच्चे मन से मन्नत मांगता है उसकी मनोकामना पूरी होती है।

दूसरे नवरात्र पर सुरकंडा गये लोगों को मां के दर्शन करने के साथ ही बर्फ के भी दर्शन हो गये जिससे लोग खासे उत्साहित हो गये। प्रातः नौ बजे के बाद बारिश शुरू हुई और देखते ही देखते बर्फ के फुहारें पड़ने लगी।  बर्फ पड़ता देख श्रद्धालु और अधिक उत्साहित हो गये व अपने को सौभाग्यशाली मानने लगे व कहने लगे की मां की कृपा से दर्शन के साथ ही बर्फ पड़ने का भी अदभुत नजारा देखने को मिला। करीब दो घंटे तक बर्फबारी होती रही लेकिन साथ ही बारिश होने के कारण जम नहीं पायी। इस दौरान श्रद्धालुओं को कड़ाके की सर्दी से जूझना पड़ा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here