Home अभी-अभी स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने जोशीमठ में आंदोलनकारियों का समर्थन किया।

स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद ने जोशीमठ में आंदोलनकारियों का समर्थन किया।

87
0
SHARE

सोनू उनियाल

जोशीमठ : शंकराचार्य स्वामी स्वरूपानंद सरस्वती जी के शिष्य स्वामी अविमुक्तेश्वरानंद जी ने आज जोशीमठ आकर आंदोलनकारियों को धरने पर पूरे दिन बैठते हुए अपना समर्थन दिया ।आंदोलन को अपना समर्थन देते हुए कहा कि बाईपास मार्ग जोशीमठ को कट ऑफ करके बिल्कुल भी बनने नहीं दिया जाएगा किसी भी हालत में.। उन्होंने सरकार को कहा कि किसी भी कीमत पर हिंदुस्तान के प्राचीन इतिहास से छेड़छाड़ नहीं करने दी जाएगी। उन्होंने कहा यह बड़ा दुर्भाग्य है हिंदुस्तान का भी और हिंदुत्व को मानने वाले धर्मा वलियों का भी कि आज जोशीमठ केवल एक कस्बा मात्र बनकर रह गया है। उन्होंने कहा कि जोशीमठ का इतिहास केवल एक नगर पालिका या उत्तराखंड में एक नगर मात्र नहीं है ,यह वह जगह है जहां से की आदि गुरु शंकराचार्य ने अखंड ज्योत की प्राप्त प्राप्त करते हुए, हिंदुत्व को एक सूत्र में बांधने का कार्य प्रारंभ किया ।उन्होंने कहा कि यदि प्राचीन भारत के इतिहास में झांक कर देखा जाए तो जोशीमठ मात्र एक नगर नहीं है अपितु एक संस्कृति है, एक सभ्यता है और सबसे बड़ी हिंदुत्व को अजर अमर एक सूत्र में बांधने और दिशा और दशा देने का एक प्रमुख तीर्थ या कहें एक आध्यात्मिक रास्ता है या कहें ईश्वर या फिर ईश्वरीय देवतुल्य मार्ग है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here