Home अभी-अभी 70 वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया, आठ विभूतियां सम्मानित।

70 वां गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया, आठ विभूतियां सम्मानित।

202
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : पहाड़ों की रानी मसूरी में 70 वां गणतंत्र दिवस बर्फ के बीच धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर नगर पालिका की ओर से 8 विभूतियों को सम्मानित किया गया वहीं सदभावना संस्था के द्वारा संस्कृति एवं समाज सेवा के क्षेत्र में उत्कृष्ट योगदान के लिए श्रीमति कविता शुक्ला को स्मृति चिन्ह, शोल व माला पहना कर सम्मानित किया गया।

पर्यटन नगरी मसूरी में गणतंत्र दिवस धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर जहां सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयों में ध्वजारोहण प्रातः साढे नौ बजे किया गया वहीं सार्वजनिक ध्वजारोहण लंढौर चैक पर साढे़ दस बजे किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधायक गणेश जोशी ने राष्ट्रीय ध्वज फहराया इस मौके पर उन्होंने कहा कि जिन स्वतंत्रता सेनानियों ने देश की आजादी में अपने प्राण गंवाये ऐसे महान सेनानियों को याद किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भारत अपनी 70वां गणतंत्र दिवस मना रहा है लेकिन सीमा पर कड़ाकें की ठंड में जवान देश की सुरक्षा कर रहे हैं। ऐसे मौके पर हमें उन्हें भी याद करना चाहिए। उन्होंने कहा कि आज भारत तेजी से विश्व की बड़ी आर्थिक ताकत बनता जा रहा है और विश्व में चैथे नंबर पर आ गया है। उन्होंने कहा कि हमें शिक्षा की ओर विशेष ध्यान देना चाहिए क्यों कि किसी भी देश का विकास व उसकी तरक्की धन से नहीं शिक्षा से आंकी जाती है। इस मोके पर उन्होंने मसूरी में तीन स्मार्ट क्लास खोलने की घोषणा की। कार्यक्रम में बतौर विशिष्ट अतिथि पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला, पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिहं मल्ल, शहर कांग्रेस अध्यक्ष सतीश ढौडियाल, मजदूर नेता आरपी बडोनी ने भी गणतंत्र दिवस पर अपने विचार रखे व कहा कि आज के दिन भारत का संविधान लागू किया गया था जिसके निर्माता डा. बाबा साहेब अंबेडकर थे उन्हें भी याद किया जाना चाहिए। वक्ताओं ने कहा कि आज जो भी देश में विकास हो रहे हैं उनमें संविधान की प्रमुख भूमिका निभाता है उसी से हमें अधिकार प्राप्त हुए हैं। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए नव निर्वाचित पालिकाध्यक्ष अनुज गुप्ता ने कहा कि यह पहला अवसर है जब वह गणतंत्र दिवस पर पर बोल रहे हैं यह सम्मान मसूरी की महान जनता ने दिया इसके लिए सभी का आभार व्यक्त करता हू। उन्होंने इस मौके पर गणतंत्र दिवस की बधाई देते हुए कहा कि देश आजादी के बाद से लगातार तरक्की कर रहा है और आज विश्व की बड़ी ताकत बन गया है इसमें सभी का सहयोग है। उन्होंने इस मौके पर शहीदों को भी याद किया। कार्यक्रम के दौरान शहर के आठ विभूतियों को उत्कृष्ट कार्य के लिए सम्मानित किया गया जिसमें फायरमैन सत्तार मलिक, अग्निशमन विभाग, रामचंद्र स्वास्थ्य विभाग मसूरी, बीएस नेगी अध्यक्ष मसूरी स्पोर्टस एसोसिएशन, शोभाराणा एथलेटिक्स, साहिल सोनकर इनडोर हाॅकी, अर्पित कुमार आईटीबीपी, आयुषि ढींगिया ब्यूटी कांन्टेस्ट विनर प्रमुख हैं वहीं सदभावना की ओर से कविता शुक्ला को संस्कृति संवर्धन एवं समाज सेवा के लिए सम्मानित किया गया। कार्यक्रम का संचालन कुशाल राणा महामंत्री भाजपा मसूरी मंडल ने किया। इस मौके पर भाजपा मसूरी मंडल के अध्यक्ष मोहन पेटवाल, पालिका सभासद प्रताप पंवार, दर्शन रावत, मनीषा खरोला, आरती अग्रवाल, जसोदा शर्मा, अधिशासी अधिकारी एमएल शाह, विरेंद्र बिष्ट, अनीता सक्सेना, सुभाषिनी बर्त्वाल, शिवानी भारती, सदभावना के अध्यक्ष अनुज तायल, महामंत्री संदीप अग्रवाल, सुनील पंवार, राम प्रसाद कवि, सहित पालिका के अधिकारी, व शहर के विभिन्न राजनैतिक व सामाजिक संगठनों के लोग शामिल थे। वहीं दूसरी ओर सरकारी व गैर सरकारी कार्यालयांे में प्रातः साढे नौ बजे ध्वजा रोहण किया गया। नगर पालिका में अध्यक्ष अनुज गुप्ता, एक्टिव मीडिया प्रेस क्लब में अध्यक्ष सुनील सिलवाल, कोतवाली में एसएचओ भावना कैंथोला ने ध्वज फहराया।

सार्वजनिक ध्वजा रोहण का समय प्रातः साढे़ दस बजे का था, लेकिन पालिका प्रशासन की लापरवाही के कारण ध्वजा रोहण करीब 15 मिनट लेट हुआ और उसके बाद भी मौके पर माइक आदि नहीं पहुंचा और न ही सम्मानित होने वालों की लिस्ट ही पहुंच पाई। पूरे कार्यक्रम में अव्यवस्था बनी रही। जिसके कारण कार्यक्रम में बार बार व्यवधान पैदा होता रहा। हालांकि बर्फ पड़ने के कारण परेशानी हुई लेकिन जब पूर्व से कार्यक्रम तय था व यह पता था कि मौसम की मार पड़ सकती है तो उसी के हिसाब से तैयारी की जानी चाहिए थी। आधा कार्यक्रम निपट जाने के बाद सम्मानित होने वालों की लिस्ट आई व जिन्हें सम्मानित किया गया उन्हें मात्र माला व शोल दिया गया कोई प्रशस्ति पत्र नहीं दिया गया। वहीं मंचासीन किसी भी अतिथि का माल्यार्पण नही कराया गया  और कार्य क्रम की समाप्ति तक साउंड सिस्टम नहीं पहुंचा था सभी ने अपना संबोधन बिना माइक के दिया। जिससे लोगों में पालिका प्रशासन की व्यवस्थाओं पर आक्रोश नजर आया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here