Home अभी-अभी हिलदारी आंदोलन के तहत किए गए सामूहिक प्रयास से शहर को मिली...

हिलदारी आंदोलन के तहत किए गए सामूहिक प्रयास से शहर को मिली 10 टन लो वैल्यू प्लास्टिक से आजादी।

114
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : आजादी के जश्न से ठीक पहले शहर के निवासियो, नगर पालिका परिषद, नेस्ले इंडिया, गति फाउंडेशन, रिसिटी नेटवर्क व कीन संस्थान के सामूहिक प्रयास से मसूरी ने ‘मल्टी लेयर्ड प्लास्टिक’ के निस्तारण में एक बड़ी सफलता अर्जित की है। खाने की चीज़ों को पैक करने के लिए इस्तेमाल होने वाली इस प्रकार की प्लास्टिक का निस्तारण व रिसाइक्लिंग काफ़ी कठिन और खर्चीला होता है। दिल्ली स्थित नेप्रा ग्रुप ऑफ़ कम्पनीज़ द्वारा मंगलवार को करीब 6 टन सूखे कचरे को निस्तारण हेतु ले जाया गया, जहाँ इससे ऊर्जा बनाई जाएगी। इससे पहले जून में भी 4 टन सूखा कूडा ले जाया गया था। पिछले तीन माह से गति फाउंडेशन द्वारा क्षेत्र के 80 स्थलों से सूखा कचरा एकत्रित किया जा रहा है।
मसूरी को देश के सबसे साफ हिल स्टेशन में से एक बनाने के लिए चलाए जा रहे हिलदारी आंदोलन के तहत किया गया ये प्रयास कूड़े से आजादी की दिशा में एक बड़ा कदम है। हिल्लदारी के प्रोजेक्ट मैनेजर अरविन्द शुक्ला जी के अनुसार, ‘ हम लोग पिछले आठ महीने से आई. डी. एच रोड के पास स्थित ड्राई वेस्ट कलेक्शन सेन्टर में शहर से निकली एम.एल.पी और पन्नी इकठ्ठी कर रहे थे। इसके निस्तारण के अलग- अलग तरीके, ट्रान्सपोर्ट के तरीके व ख़र्चे इत्यादि पर भी विमर्श कर रहे थे। अब जब नेस्ले के सहयोग से ये प्रक्रिया बन गई है, तो हर हफ़्ते एक ट्रक यानि क़रीब 5 टन कूड़ा भेजने की योजना है।’

ज्ञात हो कि आंदोलन को मिल रहे अभूतपूर्व सहयोग की वजह से शहर के 80 प्रतिशत लोग गीला व सूखा कूडा अलग अलग देने लगे हैं। अब इस कूड़े को बेहतर निस्तारण की प्रक्रियाओं व रिसाइक्लिंग मार्केट से जोड़ा जा रहा है, ताकि कम से कम कूडा लैन्डफिल तक पहुँचे। सबको साथ लेकर चलने की मंशा रखने वाली इस मुहिम में कूडा बीनने वालों के जीवन स्तर में सुधार करने के भी प्रयास जारी हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here