Home अभी-अभी हिमालयी राज्यों को ग्रीन बोनस व अलग हिमालय नीति बनाई जाय-गणेश जोशी।

हिमालयी राज्यों को ग्रीन बोनस व अलग हिमालय नीति बनाई जाय-गणेश जोशी।

235
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : विधायक गणेश जोशी ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि मसूरी में हिमालयी राज्यों का अहम सम्मेलन 28 जुलाई को होने जा रहा है। जिसमें एक ओर जहां हिमालयी राज्यों के लिए अलग नीति पर चर्चा होगी वहीं उन्होंने कहा कि उत्तराखंड सहित सभी हिमालयी राज्य चुनौतियों का सामना कर देश को पानी व शुद्ध हवा दे रहा है इसलिए ग्रीन बोनस दिया जाना चाहिए जिसकी मांग लम्बे समय से हो रही है।

उन्होंने कहा कि यह मेरे लिए गर्व की बात है कि यह मेरी विधानसभा के प्रमुख हिल स्टेशन मसूरी में आयोजित की जा रही है। जिसमें पीएमओ के बडे़ अधिकारियों सहित केंद्रीय वित्तमंत्री भी आ रहे हैं। इस सम्मेलन में सस्टेनेबल विकास,पर्यावरण, रोजगार व जलसंरक्षण सहित अनेक मुददों पर चर्चा होगी। उन्होंने कहा कि हमारी कोशिश रहेगी कि जो अमूल्य वन संपदा हिमालयी राज्य देश को देते है इस वन संपदा के चलते कई विकास कार्य बाधित हो रहे हैं इसलिए हिमालयी राज्यों को ग्रीन बोनस दिया जाना चाहिए। तथा हिमालयी राज्यों के विकास के लिए एक समग्र हिमालयी नीति बननी चाहिए। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड में 17 सालों में कुल 40 हजार करोड़ का निवेश आया लेकिन प्रदेश की वर्तमान सरकार के गत वर्ष इन्वेस्टर सम्मिट के बाद 1.24 लाख करोड के एमओयू साईन हुए हैं। जिसका कार्य विभिन्न स्तर पर शुरू किया जा चुका है। वहीं 16 हजार करोड़ के निवेश से अगले एक से दो साल के अंदर प्रदेश के 40 हजार युवाओं को रोजगार मिलेगा। वहीं कहा कि प्रदेश सरकार जीरो टॉलरेंस की नीति पर चल रही है तथा इस दिशा में शीघ्र प्रदेश में बेनामी संपत्तियों के खिलाफ कड़ा कानून लाया जा रहा है। ताकि टैक्स चोरी से कोई बच नहीं पायेगा व जांच के बाद ऐसी संपत्तियों को जब्त किया जायेगा। इस मौके पर भाजपा मसूरी मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, महामंत्री कुशाल राणा, महिला मोर्चा अध्यक्ष मीरा सुरियाल, उपाध्यक्ष राकेश अग्रवाल, मुकेश लाल, अरविंद सेमवाल, आलोक मेहरोत्रा, मुकेश धनाई, धर्मपाल पंवार सहित बड़ी संख्या में भाजपा कार्यकर्ता मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here