Home अभी-अभी सी0ओ0 उत्तरकाशी द्वारा अग्निशमन जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर किया...

सी0ओ0 उत्तरकाशी द्वारा अग्निशमन जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना

119
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा   

उत्तरकाशी : अग्निशमन दिवस के मौके पर पुलिस उपाधीक्षक उत्तरकाशी द्वारा जागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया।14 अप्रैल 1944 को मुम्बई बंदरगाह पर एक भयानक हादसा हुआ था। बंदरगाह पर फोर्टस्टीकेन नामक मालवाहक जहाज खड़ा था। जहाज में रूई की गांठें, विस्फोटक सामग्री एवं युद्ध उपकरण भरे हुए थे जिसमें भयानक अग्नि दुर्घटना घटित हुई थी। इस अग्निकाण्ड के दौरान हुऐ विस्फोट में अग्नि शमन कार्य करते हुऐ 66 फायर सर्विस कर्मी वीरगति को प्राप्त* हुए थे। उन शहीद फायरमैनों तथा उसके उपरान्त अपने कर्तव्यों का पालन करते हुऐ शहीद बहादुर अग्निशमन कर्मियों की स्मृति में प्रत्येक वर्ष 14 अप्रैल को अग्निशमन दिवस (फायर डे) मनाया जाता है और 14 अप्रैल से 20 अप्रैल तक अग्निशमन दल द्वारा अग्नि सुरक्षा सप्ताह मनाया जाता है साथ ही उनकी सेवा भावना के अनुरूप कार्य करने का संकल्प लिया जाता है।

अग्निशमन दिवस के अवसर पर आज फायर स्टेशन लदाडी उत्तरकाशी पर  कमल सिंह पंवार, पुलिस उपाधीक्षक उत्तरकाशी,  हीरा लाल बिजल्वाण प्रतिसार निरीक्षक पुलिस लाइन ज्ञानसू उत्तरकाशी,  रमेश चन्द्र गौतम अग्निशमन अधिकारी सहित फायर स्टेशन लदाडी के अन्य अधिकारी/कर्म0गण द्वारा शहीद अग्निशमन अधिकारी/कर्मचारियों 02 मिनट का मौन धारण कर श्रद्धा सुमन अर्पित किये गये। उसके बाद कमल सिंह पंवार पुलिस उपाधीक्षक उत्तरकाशी द्वारा फायर सर्विस की जनजागरूकता रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। जनजागरूकता रैली द्वारा लदाडी,जोशियाड़ा, ज्ञानसू,बढेती,मनेरा, मेन बाज़ार उत्तरकाशी व गंगोरी आदि स्थानों में भ्रमण कर आम जनमानस  को अग्नि से बचाव तथा सावधानी बरतने के सम्बंध में जागृत किया गया।

अग्निशमन सप्ताह के अवसर पर विभिन्न जनजागरूकता कार्यक्रमों का आयोजन आगे भी जारी रहेगा।

अग्नि सुरक्षा सप्ताह का उद्देश्य नागरिकों को अग्निकांडों से होने वाली क्षति के प्रति जागरूक करना तथा अग्निकांडों को रोकने एवं अग्नि से बचाव के उपायों के संबंध में शिक्षित करना है। इसके साथ ही सुरक्षित मार्ग की व्यवस्था, अग्निशामक उपकरणों का प्रयोग, आग की स्थिति में बचाव के उपाय, उद्योगों में अग्नि सुरक्षा व सावधानियां, विद्युत अग्नि सुरक्षा व सावधानी, बहुमंजिले भवनों में अग्नि सुरक्षा, विकलांग व्यक्तियों के लिए अग्नि सुरक्षा आदि है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here