Home अभी-अभी संप्रदायिक सदभाव का प्रतीक बाबा बुल्लेशाह का उर्स धूमधाम से मनाया गया।

संप्रदायिक सदभाव का प्रतीक बाबा बुल्लेशाह का उर्स धूमधाम से मनाया गया।

106
0

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी : बालाहिसार स्थित बाबा बुल्लेशाह की मजार पर 30वां सालाना उर्स धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर बड़ी संख्या में सभी धर्मों के श्रृद्धालुओं ने बाबा की मजार पर चादर व प्रसाद चढ़ाया तथा परिवार के खुशहाली की कामना की।

बालाहिसार स्थित टिहरीबाई पास रोड पर वाइनबर्ग स्कूल के समीप बाबा बुल्लेशाह की मजार है जहां प्रतिवर्ष सालाना उर्स आयोजित किया जाता है। सर्वधर्म सदभाव का प्रतीक बाबा बुल्ले शाह के सालाना उर्स में प्रातः से ही मजार पर जायरीनों का जमावड़ा लगना शुरू हो गया था। बुल्लेशाह समिति की ओर से साढे़ नौ बजे पूरे धार्मिक परंपराओं के साथ चादर चढ़ाई गई उसके बाद आम श्रद्धालुओं ने चादरें व प्रसाद चढ़ाया। उसके बाद दिन भर मजार पर जायरीनों को तांता लगा रहा। श्रद्धालुओं ने बाबा की मजार पर माथा टेका व परिवार की खुशहाली की कामना की व मन्नतें मांगी। इस मौके पर बाबा बुल्ले शाह मजार समिति के अध्यक्ष ए रब ने कहा कि यह मजार सर्वधर्म सदभाव का प्रतीक है जहां पर हर धर्म के लोग बड़े विश्वास के साथ दरगाह पर आते हैं और उनकी मन्नतें पूरी होती हैं। इस मजार पर केवल मसूरी ही नहीं बल्कि देश के विभिन्न स्थानों से श्रद्धालु आते हैं व बाबा के दर्शन करते है। इस मौके पर साजन बाबु घुंघरू वाले कव्वाल की टीम ने बाबा की शान में एक से बढ़कर एक कव्वालियां सुनाकर श्रोताओं को झूमने पर मजबूर कर दिया। वहीं दूसरी ओर बाबा के दरबार में कई चुनाव लड़ रहे नेताओं ने भी माथा टेका व आशीर्वाद ग्रहण किया। इस मौके पर समिति के सुनील गोयल, सुरेश गोयल, गगन, सहित बड़ी संख्या में श्रद्धालु मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here