Home अभी-अभी शिफनकोर्ट में रह रहे मजदूरों को नोटिस से हड़कंप, पालिका ईओ को...

शिफनकोर्ट में रह रहे मजदूरों को नोटिस से हड़कंप, पालिका ईओ को ज्ञापन दिया।

420
0

कपिल मलिक

मसूरी : मजदूर संघ ने नगर पालिका के द्वारा शिफनकोर्ट किताबघर में रह रहे मजूदरों को आवास खाली कराने के नोटिस जारी करने पर विरोध किया व पालिका में अधिशासी अधिकारी में मिल कर ज्ञापन दिया वहीं कहा कि अगर मजदूरों के आवास खाली कराये गये तो कड़ा विरोध किया जायेगा।

मजदूर संघ के नेतृत्व में बड़ी संख्या में मजदूरों ने पालिका कार्यालय जाकर पालिका अधिशासी अधिकारी को ज्ञापन दिया व कहा कि शिफनकोर्ट में जो मजदूर रह रहे हैं वह वर्षों से वहां पर रह रहे हैं। तथा मजदूरों के निवास के लिए ही यह बस्ती निर्मित की गई है। वर्तमान में यहां अधिकतर मजदूर अनुसूचित जाति के निवास कर रहे हैं। जो आवास खाली करने में असमर्थ हैं। उन्होंने ज्ञापन में कहा कि यह बस्ती मजदूरों के लिए बनाई गई है। वर्ष 2012 में मजदूर संघ का भवन नगर पालिका ने तोड दिया तब तय किया गया था कि उन्हें शीघ्र आवास बनाकर दिए जायेंगे। वहीं आवास तोड़े जाने पर प्र्यटन विभाग ने उन्हें अन्य रहने पर किराया देने का भरोसा दिया लेकिन किराया छह माह बाद देना बंद कर  दिया। जिससे मजदूर बेहाल हो गये। वर्ष 2015 में मजदूर संघ व पालिका के बीच एक करार हुआ जिसमें कहा गया था कि यहां से किसी को नही हटाया जायेगा। मांग की गई कि शिफनकोर्ट किताबघर से किसी भी मजदूर को नहीं हटाया जाय व पूर्व की भांति उन्हें रहने दिया जाये अन्यथा भवन बनाकर दिया जाय। अगर जबरन मजदूरों का निकालने का प्रयास किया गया तो कड़ा विरोध किया जायेगा। इस मौके पर पालिका अधिशासी अधिकारी एमएल शाह ने कहा कि शिफनकोर्ट में केवल 24 मजदूर रहते थे जिन्हें विस्थापित किया जायेगा बाकी को हर हाल में हटना होगा। मालूम हो कि वर्तमान में वहां पर 82 परिवार रह रहे हैं। इस पर पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल ने कहा कि कई बार सर्वे किया जा चुका है वहां पर केवल 24 परिवार ही थे और प्र्यटन विभाग भी उन्हीं 24 परिवारों को किराया देता था। इसमें कोई कुछ नहीं कर सकता। इस मोके पर मजदूर संघ सचिव गंभीर पंवार सहित गिरिश, जगत लाल, मोर सिह, राजमोहन, आदित्य थापा, संवर लाल, संजय टम्टा, भरत बहादुर, जय सिंह, गुडडु लाल, विनोद, प्रमोद थापा, भोपाल सिंह, बिंदी लाल, विनोद शाह, प्रमोद लाल, आदि मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here