Home अभी-अभी विश्व कैंसर दिवस पर रैली व गोश्ठी का आयोजन

विश्व कैंसर दिवस पर रैली व गोश्ठी का आयोजन

47
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : विश्व कैंसर दिवस के मौके पर राजकीय आदर्श कीर्ति इंटरमीडिएट कालेज उत्तरकाशी की जूनियर रेडक्रास इकाई द्वारा विभिन्न गतिविधियों के माध्यम से कैंसर की रोकथाम हेतु जागरूक किया गया। जिस हेतु नगर में कैंसर जागरूकता रैली निकाली गई। इस वर्ष की थीम ‘आई एॅम एण्ड आई विल’ विषय पर भाषण, पोस्टर व निबंध प्रतियोगिताएँ आयोजित की गई। भाषण प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान क्रमशः सुभम अग्रवाल, सुमित तथा गोविंद कुमार ने प्राप्त किया।
पोस्टर प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान क्रमशः देश राज सिंह नेगी, आदर्श तथा कुमारी अग्रता नौटियाल ने प्राप्त किया।
निबंध प्रतियोगिता में प्रथम, द्वितीय तथा तृतीय स्थान क्रमशः प्रवेश चौहान, अख्तर अली तथा अमन पंवार ने प्राप्त किया। सभी प्रतियोगिताओं में स्थान प्राप्त करने वाले छात्रों को प्रमाण पत्र देकर पुरस्कृत किया गया।
विश्व कैंसर दिवस का प्रारंभ वर्ष 1933 से यूनियन फॉर कैंसर कंट्रोल के दिशा निर्देश पर हुआ था, जिसका मुख्य उद्देश्य था जनता को जागरूक करना।

वक्ताओं ने कहा कि कैंसर एक गैर संक्रामक बीमारी है जो छिंकने या खांसने से प्रभावित नहीं करती है। यह अपने आप पनपता है। कैंसर बढ़ने की वजह हम खुद भी हो सकते हैं क्योंकि इसका सबसे बड़ा कारण है कैंसर के बारे में जानकारी ना होना। खानपान में फास्ट फूड का होना, पीज्जा बर्गर का उपयोग करना, कच्चे फलों व हरी सब्जियों से दूरी बनाना, आंकड़ों के मुताबिक हमारे देश में लगभग 42 लाख कैंसर के मरीज हैं। कैंसर के प्रति जागरूकता ही इस बीमारी का सबसे बड़ा बचाव है और अगर कैंसर का पता समय पर चल जाता है तो इलाज बेहतर हो सकता है। 40 फीसदी कैंसर सिर्फ तंबाकू के सेवन से होता है। कैंसर से बचने के लिए तंबाकू उत्पादों का सेवन बिलकुल न करना चाहिए।

कैंसर के ज्यादातर मामलों में फेफड़े और गालों के कैंसर देखने में आते हैं, जो तंबाकू उत्पादों का अधिक सेवन करने का नतीजा होता है। ऐसे मामलों में उपचार बेहद जटिल हो जाता है और मरीज़ के बचने के चांस भी कम हो जाते हैं। इसके साथ ही आजकल महिलाओं में स्तन कैंसर काफी अधिक देखने में आ रहा है जो बेहद खतरनाक होने के साथ काफी पीड़ादायक होता है।

कैंसर से सबसे ज़्यादा खतरा होता है युवाओं को जो आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में खुद को तनाव मुक्त रखने के लिए धूम्रपान का सहारा लेते हैं। युवाओं में बढ़ती धूम्रपान की लत कैंसर को बढ़ावा दे रही है। कैंसर का बचाव संतुलित भोजन, साफ-सफाई, नियमित व्यायाम और धूम्रपान तथा शराब से दूर रहकर किया जा सकता है।

साथ ही सही समय पर अगर इसके लक्षणों को पहचान करा कर उपचार किया जाए तो इसका इलाज बेहद आसान हो सकता है। विश्व को कैंसर मुक्त करने के लिए हम सबको कदम बढ़ाने होंगें और खुद तथा अपने सगे सबंधियों को तंबाकू, सिगरेट, शराब आदि से दूर रहने की सलाह देनें का संकल्प लें।

इस अवसर पर खंड शिक्षा अधिकारी सी एल साह, सीएमएस डॉ एस डी सकलानी , काउंसलर लोकेन्द्र पाल सिंह परमार, प्रभाकर सेमवाल, फर्स्ट एड लेक्चरर जुगल किशोर भट्ट तथा यूथ एवं जूनियर रेडक्रास प्रभारी डॉ. शंभू प्रसाद नौटियाल, रेडक्रास सोसायटी के चेयरमैन अजय पुरी ,शैलेन्द्र कुमार नौटियाल, किरन खंडूड़ी मंगल सिंह पंवार, संजय डोभाल, मगनेश नौटियाल, नागेश अतुल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here