Home अभी-अभी यमुनोत्री-यात्रियों संख्या बढ़ने के साथ व्यवस्थाओं का टोटा

यमुनोत्री-यात्रियों संख्या बढ़ने के साथ व्यवस्थाओं का टोटा

191
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

बड़कोट : कुछ समय तक शिथिल रही यमुनोत्री धाम की यात्रा ने एक बार फिर गति पकड़ ली है।मौसम खुलने व डबरकोट स्लीपजोंन से निरन्तर आवाजाही के चलते आजकल प्रतिदिन डेढ़ से दो हजार देशी विदेशी यात्री यमुनोत्री दर्शनों को पहुंच रहे हैं।लेकिन जुलाई माह में अतिवृष्टि से धाम व आसपास हुए नुकसान का पुनर्निर्माण न होने से यात्रियों को भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है।
पिछले एक सप्ताह से यमुनोत्री धाम में आने वाले यात्रियों की संख्या में काफी इजाफा हो रहा है।प्रतिदिन डेढ़ से दो हजार यात्री माँ के दर्शनों को पुहंच रहे हैं।लेकिन यात्रियों की संख्या बढ़ने के साथ ही धाम में अब्यवस्थाओ का भी अम्बार लगा हुआ है।जिससे स्थानीय पंडा समाज व आने वाले यात्रियों में नाराजगी है। 16 जुलाई की रात को यमुनोत्री व आसपास के क्षेत्र में हुई अतिवृष्टि से काफी नुकसान हो गया था।लेकिन तब से अब तक दो माह होने को आ गए हैं लेकिन अभी तक शासन प्रशासन की ओर से ब्यवस्थायें वे पुनर्निर्माण का कार्य नही किया गया है।अब धाम में स्थित यह है कि न तो घाट ही बचे हैं और न महिलाओं के स्नान को कुंड।महिला व पुरुष यात्रियों को बारी बारी से एक ही कुंड में स्नान करना पड़ रहा है।जो यात्री नदी में स्नान करते हैं वहां स्नान घाटों के क्षतिग्रस्त होने के कारण हर समय दुर्घटना घटित होने की आसंका बनी रहती है।यमुनोत्री धाम के पंडा पुरुषोत्तम उनियाल, प्रदीप उनियाल व प्यारे लाल ने धाम की स्थिति पर नाराजगी जाहिर करते हुए बताया कि सरकार द्वारा धाम को ब्यवस्थाओ के नाम पर लावारिस छोड़ दिया गया है।किसी भी प्रकार के पुनर्निर्माण कार्य नही कराए जा रहे हैं।जिसके कारण देश विदेश से आने वाले यात्रियों को भारी असुविधाओं का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here