Home अभी-अभी मुआवजा नहीं मिला तो आमरण-अनशन की चेतावनी

मुआवजा नहीं मिला तो आमरण-अनशन की चेतावनी

202
0
SHARE

हेम बहुगुणा

बागेश्वर : जिले के मजगांव में चार दर्जन किसान 14 साल से मुआवजे का इंतजार कर रहे हैं। लेकिन लोक निर्माण विभाग किसानों को हर बार आश्वासन की खुराक दे रहा है। ग्रामीणों ने इसके लिए कई बार अधिकारियों से गुहार लगाई लेकिन इसका नतीजा सिफर निकला। अब ग्रामीण आमरण-अनशन करने का मन बना रहे हैं।
कमेड़ीदेवी-स्याकोट मोटर मार्ग की लंबाई 10 किमी है। सन् 2004 में तीन से छह किमी के बीच कुल 59 किसानों से उनकी नाप व सिंचित भूमि यह कहकर ली गई कि इसके बदले उन्हें शासन से मुआवजा दिया जाएगा। ग्रामीणों ने मुआवजे की आस में अपनी खेती की जमीन सड़क निर्माण में दे दी। जिसकी कुल नाप करीब छह एकड़ है। लेकिन इसके बाद किसानों को मुआवजा नहीं दिया गया। काफी जोर आजमाइश के बाद शासन ने 11 किसानों को मुआवजे की कुछ राशि दी। शेष किसान आज तक मुआवजे की मांग कर रहे हैं। इस तरह मुआवजे की आस में 48 किसान 14 साल से शासन से मांग कर रहे हैं। लेकिन हर बार उन्हें सिर्फ आश्वासन दिया जा रहा है। जिससे अब किसानों ने आंदोलन की राह अपनाने का निर्णय लिया है। टीएस रावत, ग्राम प्रधान भागुली देवी, पूर्व प्रधान भवानी देवी, साबुली देवी, उदय सिंह, दरपान सिंह, दिलीप सिंह, भीम सिंह, नारायण सिंह, आन सिंह, हीरा सिंह, दर्शन सिंह, होशियार सिंह, तेज सिंह रावत, प्रताप सिंह, जोगा सिंह, जगदीश सिंह, हरीश सिंह आदि ने आमरण अनशन करने की चेतावनी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here