Home अभी-अभी महिला शसक्तीकरण में उत्तरकाशी अब्बल-राज्यपाल

महिला शसक्तीकरण में उत्तरकाशी अब्बल-राज्यपाल

82
0

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : राज्यपाल बेबीरानी मौर्य अपने एक दिवसीय जनपद उत्तरकाशी भ्रमण पर षुक्रवार को पंहुची। राज्यपाल ने जिला मुख्यालय पंहुचकर बस अड्डा स्थित हिमाद्री इम्पोरियम परिसर में एकीकृत हश्तशिल्प विकास एवं प्रोत्साहन योजना के अन्तर्गत हस्तषिल्प प्रर्दशनी का निरीक्षण किया। प्रर्दषनी में स्थानीय षिल्पीयों के द्वारा निर्मित गंगोत्री, यमुनोत्री, केदारनाथ, बद्रीनाथ, के मंदिर, रिंगाल से बनाए गए उत्पाद, शाल, पंखी, कारपेट, चीड़ से निर्मित कलात्मक उत्पाद एवं स्थानीय उत्पाद से बनाए गए व्यंजन का निरीक्षण किया। इस दौरान राज्यपाल ने विषेश ओली चाय व स्थानीय ब्यंजनों का स्वाद भी लिया।
निरीक्षण के दौरान मीडिया से रूबरू होते हुए . राज्यपाल ने जिलाधिकरी डा. आषीश चैहान की सराहना करते हुए कहा कि जिलाधिकारी ने हिमाद्री इम्पोरियम के साथ खाली पड़ी जमीन को प्रयोग में लाकर बेहतरीन रेस्टोरेंट का रूप देकर, महिलाओं को सशक्त बनाने हेतु प्लेटफार्म दिया हैं। उन्होंने कहा कि महिलाएं सामूहिक रूप से स्थानीय उत्पाद के जरिए विभिन्न प्रकार के व्यंजन, बना रहीं हैं तथा सषक्त होकर कार्य कर रहीं हैं। हर जिले में भी महिलाओं को इसी तरह के प्लेटफार्म मिलें जिससे महिलाएं शसक्तीकरण हो सकें। उन्होंने हिमालय पर्यावरण जड़ी-बूटी एग्रो संस्थान जाड़ी के द्वारा बनाए गए सीड बम (बीज बम) का निरीक्षण करते हुए उत्तराखण्ड के लिए बेहतर बताया। उन्होंने कहा कि फल एवं फूल इत्यादि बीज बम विखरने से जहां हरियाली व फलदार पेड़ उगेंगे, वहीं बन्दरों की समस्या से भी निजात मिल सकेगी।
उसके उपरान्त राज्यपाल श्रीमती मौर्य बालिका इंटर कालेज में आयोजित कार्यक्रम में प्रतिभाग करते हुए बालिकाओं के साथ सीधा संवाद किया। बालिका इंटर कालेज की छात्राओं ने मा0 राज्यपाल से कई सवाल पूछे तथा राज्यपाल ने उनके सवालों के जवाब दिए। इसके बाद मा0 राज्यपाल ने विश्वनाथ मंदिर में पूजा अर्चना की।
इसके उपरांत मा0 राज्यपाल ने लोनिवि विश्राम गृह में अधिकारियों के साथ बैठक ली। बैठक में राज्यपाल को पावर प्वाइंट के द्वारा जनपद की विकास योजनाओं सहित केन्द्र सरकार की ध्वजवाहक योजनओं की कार्य प्रगति की विस्तृत जानकारी दी गई। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग कि विभिन्न योजनाओं की समीक्षा करते हुए जनपद के जिला चिकित्सालय में मरीजों की सुविधा हेतु संचालित क्यू मेनेजमेंट सिस्टम व नर्सिंग डेस्क सिस्टम संचालन पर खुषी व्यक्त करते हुए नर्सिंग डेस्क सिस्टम को हिन्दी में संचालित करने के निर्देष जिलाधिकारी व मुख्य चिकित्सा अधिकारी को दिये, ताकि मातृ भाशा का अधिकाधिक उपयोग हो साथ ही नर्सिंग स्टाफ आदि को पढ़ने में भी आसानी हो सके। मा0 राज्यपाल ने नमामि गंगे, प्रधानमंत्री आवास योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई, बीमा योजना, आयुशमान योजना, दीन दयाल उपाध्यया विद्युतीकरण योजना, सौभाग्य योजना, बालविकास के साथ ही कनून व्यवस्था की विस्तृत समीक्षा की। उन्होंने आंगनबाड़ी केन्द्र के नाम के आगे नन्ही पाठशाला नाम लिखने के निर्देश भी दिये। राज्यपाल महोदय ने समीक्षा के उपरांत अधिकारियों को केन्द्र व राज्य सरकार की प्राथमिकता वाले कार्यों को युद्वस्तर पर करते हुए वर्ष के अन्त तक पूर्ण करने के निर्देश दिये।
इस अवसर पर जिलाधिकारी डा. आषीश चैहान, पुलिस अधीक्षक ददनपाल, मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त आर्य, अपर जिलाधिकारी हेमंत वर्मा, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा0 बिनोद नौटियाल, प्रभागीय वनाधिकारी संदीप कुमार, परियोजना निदेषक आर0एस0 रावत, उपजिलाधिकारी देवेन्द्र नेगी, सौरभ असवाल, एलआयू इंस्पेक्टर प्रवीण चैधरी, महाप्रबन्धक उद्योग एसएस रावत, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी वीरेन्द्र पुरी, जिला विकास अधिकारी संजय सिंह, जिला पूर्ति अधिकारी गोपाल सिंह मटूड़ा, जिला पर्यटन अधिकारी प्रकाष खत्री, समाज कल्याण अधिकारी हेमलता पाण्डेय, आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here