Home अभी-अभी भूमि उपलब्ध न कराने पर बेरोजगार विनोद रावत 18 जुलाई से सपरिवार...

भूमि उपलब्ध न कराने पर बेरोजगार विनोद रावत 18 जुलाई से सपरिवार आमरण अनशन करेंगे।

263
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : अतिक्रमण हटाने के दौरान पीसीओ चलाने के लिए जिलाधिकारी से स्वीकृत खोखे को तोड़ने के बाद से बेरोजगार हो चुके विनोद सिंह रावत ने एसडीएम को पत्र देकर मांग की है कि यदि 17 जुलाई तक उनको रोजगार करने के लिए भूमि उपलब्ध नहीं कराई गयी तो वह सपरिवार 18 जुलाई 2019 से एसडीएम कार्यालय के प्रांगण में आमरण अनशन शुरू कर देंगे।

बेरोजगार हो चुके विनोद सिंह रावत ने बताया कि उन्हें शिक्षित बेरोजगार योजना के तहत वर्ष 1994-95 में दूर संचार विभाग ने एसटीडी, पीसीओ स्वीकृत किया था। जिस पर नगर पालिका मसूरी ने तत्कालीन जिलाधिकारी की स्वीकृति पर मालरोड रोपवे झूलाघर के सामने छह बाई चार फीट की भूमि लीज पर स्वीकृत की गई जिसपर वह तब से अभी तक एसटीडी, पीसीओ बूथ चला रहा था लेकिन गत 29 मई 2019 को नगर पालिका व स्थानीय प्रशासन ने अतिक्रमण के नाम पर उक्त खोखा ध्वस्त कर दिया। जिसके कारण मेरा रोजगार समाप्त हो गया और परिवार के सामने रोजी रोटी का संकट पैदा हो गया। उन्होंने बताया कि वह स्वयं हृदय रोग से पीड़ित हूं व मेरे एक आंख की रोशनी भी नहीं है जिस कारण मेहनत मजदूरी भी नहीं कर सकता। मेरी दो पुत्रियों एवं पत्नी के समक्ष उनका लालन पालन एवं उनकी शिक्षा पूरी करने की बड़ी विकट समस्या उत्पन्न हो गई है। उन्होंने एसडीएम को पत्र भेज कर मांग की कि मेरी व मेरे परिवार की परेशानी को देखते हुए भूमि उपलब्ध कराने की कृपा करें। वहीं चेतावनी भी दी कि ऐसा न होने पर वह 18 जुलाई से परिवार के साथ एसडीएम कार्यालय प्रांगण में आमरण अनशन पर बैठने को मजबूर होना पडे़गा। उन्होंने कहा कि मेरे पास सभी जरूरी कागज व किराये की रसीद उपलब्ध है। उन्होंने पत्र की प्रतिलिपि मुख्यमंत्री, जिलाधिकारी, नगरपालिका अध्यक्ष सहित अन्य संबंधित अधिकारियों को भी दी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here