Home अभी-अभी बड़कोट में नौ दिवसीय स्कन्दपुराण का समापन, सैकड़ों की संख्या में उमड़े...

बड़कोट में नौ दिवसीय स्कन्दपुराण का समापन, सैकड़ों की संख्या में उमड़े श्रोतागण

297
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

बडकोट : नगर पालिका बड़कोट में आयोजित नौ दिवसीय स्कन्दपुराण का आज भव्य रूप समापन हुआ। व्यापार मण्डल बड़कोट के तत्तावधान मेें आयोजित स्कन्द महापुराण का विशाल भण्डारे के साथ विधिवत समापन हो गया है । अन्तिम दिन पौन्टी से माॅ भद्रकाली और बड़कोट भगवती देवी की उत्सव डोली के श्रद्वालुओं ने दर्शन किये । कथा वक्ता आचार्य शिव प्रसाद भट्ट ने बताया कि भगवान शिव के पुत्र कार्तिकेय का नाम स्कन्द है । स्कन्द का अर्थ होता है क्षरण अर्थात विनाश । भगवान शिव सहार के देवता है उनका पुत्र कार्तिकेय सहारक शस्त्र अथवा शक्ति के रूप से जाने जाते है , ताराकासुर का वध करने के लिए ही इनका जन्म हुआ था , स्कन्द पुराण शैव सम्प्रदाय का पुराण है यह अठारह पुराणों में सबसे बड़ा है । नौ दिनों तक कथा वक्ता ने भक्तों को अपने भजनों में झूमने के लिए विवश कर दिया । कथा श्रवण करने के लिए दूर दूर से पहुचें सैकड़ों भक्तों स्कन्द महापुराण का महा प्रसाद विशाल भण्डारे में ग्रहण किया । इस अवसर पर आचार्य मुन्शीराम बेलवाल, सुप्रद्वि बंासुरी वादक द्वारिका नौटियाल, मोहित भट्ट , प्रदीप जगुड़ी , नगर व्यापार मण्डल अध्यक्ष राजाराम जगुड़ी , कोषाध्यक्ष सुभाष रावत ,उपाध्यक्ष मंजीत रावत,गजेन्द्र असवाल,मस्तराम , रजत अधिकारी, मदन पैन्यूली, गणपति नौटियाल, महादेव उनियाल, चन्द्रमणी जोशी , बृजमोहन अग्रवाल, मोहित , विनोद राणा,, वृद्वा नौटियाल, मुकेश डिमरी, प्रदीप , शान्ती प्रसाद बेलवाल , भगवती रतुड़ी , विनोद चैना , उत्तम रावत , सुरेन्द्र सिंह , प्रदीप जैन , सहित सैकड़ों की संख्या में कथा श्रवण करने श्रद्वालु उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here