Home अभी-अभी बेहतर शिक्षा के लिए सवेदनशील होकर कार्य करें शिक्षक-डीएम

बेहतर शिक्षा के लिए सवेदनशील होकर कार्य करें शिक्षक-डीएम

50
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : जनपद की विद्यालयों की मासिक परीक्षा प्रगति की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने कहा कि विद्यार्थियों की शिक्षा गुणवत्ता बेहतर करने के लिये शिक्षक सवेदनशील होकर बेहतर शिक्षण कार्य करें।

यह बात जिलाधिकारी ने शिक्षा अधिकारियों की बैठक लेते हुए कही। उन्होंने कहा कि सतलूज जल विद्युत निगम से मोरी नेटवाड़ इंटर कालेज में र्स्माट क्लास,र्स्माट डिजीटल लैब व सांईस लैब बनाई जाएगी ताकि विद्यार्थियों को अद्यतन शिक्षा से जोड़ा जा सके। वे भी प्राईवेट विद्यालयों जैसे शिक्षा पद्धति से जुड़ सके। उन्होंने कहा कि कस्तुरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालय मोरी में विद्यार्थियों की उपयोग हेतु गीजर व विद्यालय में सोलर लाईट भी लगाई जाएगी साथ ही उन्होंने विद्यालय में शीघ्र पेयजल संयोजन कराने के निर्देश मुख्य शिक्षाधिकारी व अधिषासी अभियंता जल संस्थान को दिए। जिलाधिकारी ने कहा कि विद्यार्थियों को बेहतर शिक्षण सुविधाएं देने एवं शैक्षणिक माहौल बनाने के लिए सरबडियार, कस्तूरबा गांधी आवासीय विद्यालय व राजकीय इंटर कालेज मातली में भी र्स्माट क्लास चलाएं जाएगें।

डा. चौहान ने विद्यालयवार प्रत्येक व ब्लाकवार मासिक परीक्षा प्रगति समीक्षा करते हुए रिर्पोट उन्हें उपलब्ध कराने के निर्देश मुख्य शिक्षाधिकारी को दिए।साथ ही उन्होंने विगत माह डुण्डा ब्लाक की मासिक परीक्षा के परिणामों में नाराजगी व्यक्त करते हुए शिक्षकों को शिक्षण कार्य सवेदनशील होकर करने की नसीहत दी। उन्होंने मुख्य  शिक्षाधिकारी को प्रत्येक ब्लाकवार पांच-पांच विद्यालयों में मासिक परीक्षा में सबसे कम प्राप्तांक लाने वाले विद्यार्थियों की सूची भी उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। ताकि सबसे कम प्राप्तांक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों के शिक्षकों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही भी की जा सके।

बैठक में मुख्य शिक्षाधिकारी आरसी आर्य,सभी बीओ,जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here