Home अभी-अभी बाल दिवस के अवसर पर शिक्षको और विद्यालय को मिला अमूल्य तोहफा

बाल दिवस के अवसर पर शिक्षको और विद्यालय को मिला अमूल्य तोहफा

544
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी/नई टिहरी : किसी भी शिक्षक और विद्यालय के लिये सबसे बेशकीमती तोहफा होता है उसके छात्र का किसी दुर्घटना के पश्चात सकुशल विद्यालय लौटना। ऐसा ही तोहफा आज बाल दिवस के अवसर पर राजकीय उच्चतर माध्यमिक विद्यालय बादशाहीथौल टिहरी गढ़वाल के विद्यालय परिवार को मिला है। दिनाँक 26 सितंबर 2018 को विद्यालय का सबसे प्रतिभावान छात्र अंकेश डबराल गंभीर रूप से घायल हो गया था। विद्यालय के शिक्षकों द्वारा तुरंत उसे स्थानीय अस्पताल में पहुंचाया गया जहां पर प्राथमिक चिकित्सा प्रदान करने के पश्चात उसे हायर सेंटर रेफर कर दिया गया। 4 दिन तक ऋषिकेश में रहने के बाद छात्र को हिमालयन अस्पताल जोलीग्रांट में भर्ती करवाया गया। दिनाँक 6 अक्टूबर को पैर का आपरेशन होने के मात्र सवा महीने बाद छात्र ने स्वस्थ होकर आज से विद्यालय आना प्रारम्भ कर दिया है। विद्यालय के प्रधानाचार्य श्री भागवत सिंह चौहान ने बताया कि विद्यालय परिवार के लिए यह अभूतपूर्व खुशी का क्षण है कि आज बालदिवस के दिन अंकेश डबराल ने पुनः विद्यालय आना प्रारम्भ कर दिया है। घायल छात्र की सोशल मीडिया एवं अन्य विभिन्न माध्यमों से मदद करने वाले शिक्षक श्री मनोज किशोर बहुगुणा का कहना है कि विद्यालय परिवार ने सामूहिक रूप से घायल छात्र की कुशलता के लिए हरसंभव प्रयत्न किया।उन्होंने मीडिया में किये गए निवेदन पर मदद हेतु हाथ बढ़ाने वाले सभी साथियों का तथा इस प्रकार के सहयोग हेतु गठित छात्र/शिक्षक सहायता समूह के सभी सदस्यों का भी आभार व्यक्त किया है। ज्ञात है कि श्री मनोज किशोर बहुगुणा एवं उनके अन्य साथियों जिनमे चंपावत से श्री रवि बगोटी , उत्तरकाशी से अनिल बडोनी, नैनीताल से श्रीमती नामिता सुयाल भट्ट, पिथौरागढ़ से श्रीमती अनीता उपाध्याय, हरिद्वार से श्रीमती ज्योति सिंह, उत्तरकाशी से राजेन्द्र बधानी, अल्मोड़ा से हिमांशु चौहान सहित उत्तराखंड के लगभग 200 शिक्षकों द्वारा बनाया गया छात्र/शिक्षक सहायता समूह अभी तक कई छात्रों के उपचार हेतु अभूतपूर्व योगदान कर चुका है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here