Home अभी-अभी बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ बच्चों को जागरूक किया।

बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ बच्चों को जागरूक किया।

248
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ चलाये जा रहे उनमुक्ति कार्यक्रम के तहत मसूरी के विभिन्न चार स्कूलों में भी जागरूकता कार्यक्रम चलाया गया। मसूरी में करीब 12सौ बच्चों को इस कार्यक्रम का हिस्सा बनाकर जागरूक किया गया।

बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ रोक लगाने के लिए छात्र छात्राओं को जागरूक करने के लिए पिथौरागढ़ के अजय ओली और उनकी साथी कार्तिका थपलियाल इन दिनों एक अनोखा आंदोलन चला रहे हैं। जिसके तहत उन्होंने पिथौरागढ से नंगे पावं चारधाम यात्रा शुरू की व साथ ही बालश्रम व भिक्षावृत्ति के विरोध में जागरूकता का काम कर रहे हैं। मसूरी में भी इन्होंने चार स्कूलों सनातन धर्म गर्ल्स इंटर कालेज, मसूरी गर्ल्स इंटर कालेज, घनानंद राजकीय इंटर कालेज व मानव भारती इंडिया इंटरनेशनल कालेज में जाकर करीब 1200 छात्र छा़त्राओं को बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ जागरूक किया। मालूम हो कि पिथौरागढ के गांव टाणा निवासी अजय ओली मोटिवेशनल काउंसलर है तथा सोशल वैलफेयर पर पीएचडी कर चुके हैं। उन्होंने जब बच्चों को भीख मांगते देखा व छोटे बच्चों को दुकानों मे काम करते देखा तो उन्होंने उनकी पीड़ा का समझा और इनके उत्थान के लिए कार्य करने का संकल्प लिया। उनका लक्ष्य है कि 2025 तक वह देश से बालश्रम व भिक्षावृत्ति को समाप्त कर देंगे। उन्होंने गत चार सालों से यह अभियान चलाया हुआ है। उन्होंने उनमुक्ति सुनहरा बचपन कार्यक्रम के तहत अब तक 84510किमी की यात्रा कर चुके हैं तथा लिम्का बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड मे नाम दर्ज करा चुके हैं। तथा अभी तक 14000 से अधिक बच्चो को शिक्षा के माध्यम से नई राह दिखा चुके हैं। अब तक उन्होंने दो लाख 44 हजार लोगों को भीख नहीं देने की शपथ दिला चुके हैं।कार्तिका थपलियाल एवं अजय ओली ने बताया की वह इन दिनों एक लाख से अधिक लोगों को जागरूक करने के लिए 250किमी, चारधाम यात्रा नंगे पांव कर रहे हैं। तथा चारधाम यात्रा के बाद वे दिल्ली के इंडियागेट पर यात्रा का समापन करेंगे। इसी कार्यक्रम के तहत उन्होंने मसूरी के विभिन्न स्कूलों में भी बच्चों को बालश्रम व भिक्षावृत्ति के खिलाफ संदेश दिया व भीख न देने को संकल्प करवाया। इस मौके पर विद्यालय के प्रधानाचार्यों सहित शिक्षक शिक्षिकाएं मौजूद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here