Home अभी-अभी बारह कैंची रोड के हरित वन क्षेत्र में बन रहे पक्के अवैध...

बारह कैंची रोड के हरित वन क्षेत्र में बन रहे पक्के अवैध मकान।

255
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : पिक्चर पैलेस के किंक्रेग जाने वाले मार्ग पर नगर पालिका की सरकारी संपत्ति पर अवैध निर्माण लगातार जारी है। न ही पालिका प्रशासन इस ओर कदम उठा रहा है न ही वन विभाग इस ओर ध्यान दे रहा है जबकि यह आरक्षित वन क्षेत्र का हिस्सा है। अवैध निर्माण होने से इस रोड से गुजरना भी किसी खतरे से खाली नहीं है।

नगर पालिका की पिक्चर पैलेस से किंक्रेग जाने वाले बारह कैंची मार्ग पर लगातार अवैध निर्माण का बाहरी लोग कब्जा कर रहे हैं तथा पहले पेड़ों को काट कर झोपड़ियां बनाई गई और अब उन झोपड़ियों को हटा कर पक्के मकान बन रहे हैं। ये कौन लोग हैं कहां से आये हैं किसने इन्हें यहां मकान बनाने को कहा किसी को पता ही नहीं। लेकिन सबसे आश्चर्य जनक बात तो यह है कि पालिका प्रशासन भी मौन है जिनकी यह जमीन है। आखिर क्या कारण है कि इस अवैध बस्ती पर पालिका प्रशासन, एमडीडीए व वन विभाग कोई भी कार्रवाई करने से कतरा रहा है। जब कि सबको मालूम है कि यहां जो लोग रह रहे हैं वह बाहरी लोग हैं जिसमें नेपाली, बिहारी व अन्य हैं। इस क्षेत्र के स्थानीय निवासियों ने एक नहीं कई बार नगर पालिका प्रशासन व नगर प्रशासन सहित वन विभाग को लिख कर दिया है व इस अवैध बस्ती के खिलाफ कार्रवाई की मांग की है लेकिन किसी भी विभाग ने कोई भी कार्रवाई करने की जहमत नहीं उठाई। स्थानीय लोगों का कहना है  की इस बस्ती के बनने से इस क्षेत्र की शांति व्यवस्था प्रभावित होगी। क्यों कि जिन का कोई पता नहीं उनके असामाजिक तत्व होने के चलते उनके जीवन को खतरा बढ़ गया है। क्योंकि इस बस्ती में अवैध गतिविधियां होने की संभावना है और यहाँ हत्या भी हो चुकी है। उसके बाद भी पुलिस विभाग भी मौन है न ही इनका सत्यापन किया जाता है। इस क्षेत्र के निवासी पीएस पटवाल ने बताया कि उन्होंने कई बार नगर पालिका व नगर प्रशासन सहित वन विभाग को अवगत कराया, पूरे मुहल्ले के हस्ताक्षर युक्त पत्र विभागों को दिए गये लेकिन उसके बाद भी कोई कार्रवाई नहीं की गई। मालूम हो कि यह क्षेत्र हरित वनक्षेत्र में आता है और आज यहां अवैध बस्ती बन गई है और अब यहां पर पक्के निर्माण हो रहे हैं लेकिन एमडीडीए भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। आश्चर्य की बात तो यह है कि एक आम आदमी को बिजली पानी के संयोजन के लिए विभागों के चक्कर काटने पड़ते हैं और जूते घिस जाने पर भी संयोजन नहीं मिल पाते लेकिन इस बस्ती में सभी घरों में पानी व बिजली की आपूर्ति की जाती है और सभी के घरों में बिजली पानी के संयोजन हैं। यह भी जांच का विषय है। अगर अभी भी प्रशासन न चेता तो आने वाले समय में कभी भी किसी बड़ी घटना होने का जिम्मेदार प्रशासन होगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here