Home अभी-अभी बाघ की गर्जना से दिव्यांग बच्चों की जान खतरे में

बाघ की गर्जना से दिव्यांग बच्चों की जान खतरे में

56
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

बड़कोट : बड़कोट तहसील क्षेत्र के तुनालका (केसारी खड)-के आसपास विगत कई महीने से बाघ की चहलकदमी व गर्जना से वहाँ स्थित विजय दिव्यांग पब्लिक स्कूल के छात्र-छात्राओं की जान पर आफत आ चुकी है।विद्यालय में पढ़ने वाले दिव्यांग बच्चे कुछ देख नही सकते, कुछ बोल नही सकते, कुछ सुन नही सकते, तो कुछ शारीरिक विकलांग भी है।ऐसी स्थिति में यदि बाघ किसी भी समय विद्यालय परिसर में प्रवेश कर गया तो किसी अनहोनी की आशंका से इनकार नहीं किया जा सकता।क्योंकि दिव्यांग आवासीय विद्यालय की चार दिवारी कई जगह से खुली हुई है।विद्यालय की प्रबन्धक विजय लक्ष्मी जोशी ने जानकारी देते हुए बताया कि पिछले कई महीनों से विजय दिव्यांग पब्लिक स्कूल के आस पास बाघ आ रहा है।तथा गर्जना भी करता है।बाघ ने लगभग एक दर्जन से अधिक पालतू पशुओं व कुत्तों का शिकार भी किया।आजकल कई दिनों से दिव्यांग विद्यालय के आस पास बाघ दिखाई दे रहा है।जिससे विद्यालय में पढ़ने वाले दिव्यांग बच्चों की जान पर आफत आ गई है।

उधर उपरोक्त प्रकरण में यमुना वन प्रभाग की मुंगरसन्ति रेंज के रेंज अधिकारी कनैहया बेलवाल से जानकारी लेने पर उन्होंने बताया कि अभी तक किसी ग्रामीण या विद्यालय प्रबंधन ने कोई शिकायत नही की है।बेलवाल ने बताया कि यदि बाघ के दिव्यांग विद्यालय के आसपास दिखाई दे रहा है या गर्जना कर रहा है तो आज बुधवार से ही वहाँ पर वे आसपास के क्षेत्र में वन कर्मियों की गश्त लगा दी जाएगी।व यदि जरूरत पड़ी तो बाघ को क्षेत्र से बाहर खदेड़ने के लिए हवाई फायर भी किया जाएगा।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here