Home अभी-अभी बर्फवारी के चलते डी एम ने दिए गंगोत्री, यमुनोत्री में अलाव की...

बर्फवारी के चलते डी एम ने दिए गंगोत्री, यमुनोत्री में अलाव की व्यवस्था करने के निर्देश

33
0

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : जिलाधिकारी/अध्यक्ष जिला आपदा प्रबन्धन डा.आषीश चौहान ने जिला आपात परिचालन केन्द्र में आईआरएस से जुड़े सभी अधिकारियों की एक महत्वपूर्ण बैठक ली।

जनपद के सुदूवर्ती क्षत्रों में बर्फवारी व बारिस की सूचना मिलते ही जिलाधिकारी ने आईआरएस से जुड़े सभी अधिकारियों की बैठक लेते हुए जरूरी दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि दोनों धाम यमुनोत्री एवं गंगोत्री में यात्रियों को ठंड से बचने के लिए अलाव की व्यवस्था सुनिष्चित की जाए, साथ ही दुरस्थ क्षेत्रों में संबंधित उपजिलाधिकारी लोगों को ठंड से बचने हेतु समुचित व्यवस्था करेगें। उन्होंने यात्रा मजिस्ट्रेट को निर्देश देते हुए कहा कि नीचे से आने वाले यात्रियों को बर्फवारी,व ठंड से बचने हेतु गर्म कपड़े, इत्यादि की पूर्ण व्यवस्था करने पर ही आगे की यात्रा करने की सलाह दी जाए तथा रात्रि में कतई यात्रा न करने दें।

जिलाधिकारी ने कहा कि सुदूवर्ती क्षत्रों में रसद सामाग्री को पंहुचाया गया है, लेकिन ग्रामीणों को किसा प्रकार की समस्यां न हो इसके लिए क्रास वेरिफकेशन के निर्देश जिला पूर्ति अधिकारी को दिए। बर्फवारी व पाला पड़ने से यातायात बाधित न हो इस हेतु चुना, नमक आदि मय संसाधन तैनात करने के निर्देश एनएच, बीआरओ, व लोनिवि को दिए। राड़ी टॉप में पाला व बर्फ गिरने की काफी सम्भावनाएं रहती है इस हेतु मय संसाधन पहले से ही तैनात रखें। उन्होंने जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी को निर्देश दिए कि डीएसपीटी फोन की बैटरी इत्यादि पहले ही चैक करवा लें तथा जहां फोन स्थापित किए गए हैं वहां डीएसपीटी को सुचारू रखने हेतु कर्मचारी की व्यक्तिगत जिम्मेदारी तय करें।

सुदूवर्ती क्षेत्रों में निवास कर रही गर्भवस्था महिलाओं की सूची अपडेट करने के साथ ही जिला अस्पताल में सभी एम्बुलेंस के ब्रैक, कलच, बैटरी इत्यादि की परख कर चालू हालात में रखने के निर्देश मुख्य चिकित्साधिकारी को दिए।

जिलाधिकारी ने सुदूरवर्ती क्षेत्रों में आग को लेकर सक्रियता बरतने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि मोरी आदि ग्रामीण क्षेत्रों में लोग अपने घरों में घास, लकड़ी इत्यादि रखतें हैं, जिससे आग लगने की सम्भावना ज्यादा बनीं रहती हैं इस हेतु इस हेतु गांव-गांव में जाकर सघन जागरूक अभियान चलाये जाए। उन्होंने कहा कि तहसील स्तर पर उप जिलाधिकारी की अध्यक्षता में खण्ड विकास अधिकारी, ग्राम पंचायत विकास अधिकारी व पटवारी की समित बनाकर गांव में जाकर जन जागरूकता अभियान चलाने के साथ ही संबंधित गांव की फोटो भी उपलब्ध कराना सुनिष्चित करेंगे।

बैठक में पुलिस अधीक्षक ददनपाल, उप जिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह नेगी, सीएमओ डा. विनोद नौटियाल, वरिश्ठ कोशाधिकरी हिमानी स्नेही, सीवीओ डा. प्रलंयकरनाथ, ईई जल संस्थान वीएस डोगरा, जिला विकास अधिकारी संजय सिंह, वरिश्ठ परियोजना अधिकारी उरेड़ा मनोज कुमार, जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, जिला सूचना विज्ञान अधिकारी रणजीत सिंह चौहान,सहायक निदेशक मत्स्य प्रमोद शुक्ला, जिला पूर्ति अधिकारी गोपाल सिंह मटूड़ा आदि उपस्थित थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here