Home अपराध पेटीएम भुगतान पर चार दुकानदारों से ठगी, व्यापारियों में आक्रोश।

पेटीएम भुगतान पर चार दुकानदारों से ठगी, व्यापारियों में आक्रोश।

417
0

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी। मालरोड पर दुकानदारों से सामान खरीद कर पेटीएम से भुगतान का फर्जी स्क्रीन शार्ट दिखाकर हजारों का सामान ठग कर ले जाने का मामला प्रकाश में आया है। बताया गया कि घटना को तीन पर्यटकं बन कर आये दो युवाओं व एक युवती ने अंजाम दिया है। कोतवाली में मामला दर्ज किया गया है लेकिन अभी तक पुलिस किसी भी आरोपी को नहीं पकड़ पाई। इससे व्यापारियों में रोष व्याप्त है।

ठगी करने वाले इस गैंग का पता एक दुकान में लगे सीसीटीवी फुटेज से लगा है जो पुलिस को सौंप दिए गये हैं। अंदाजा लगाया गया है कि ये ठग शहर के किसी होटल में ठहरे हैं। पुलिस ने घटना की जानकारी के बाद सभी चौकियों को अलर्ट कर दिया है। व सख्ती से कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। मसूरी ट्रेडर्स एवं वैल्फेयर एसोसिएशन के अध्यक्ष रजत अग्रवाल ने बताया कि कुलड़ी से झूलाघर तक इन ठगों ने तीन दुकानों से खरीददारी की व फर्जी तरीके से पेटीएम द्वारा भुगतान कर हजारों का चूना लगा गये वहीं एक मामला रात को लाइब्रेरी का है। हालांकि उन्हें व्यापारियों द्वारा ढूढने का प्रयास किया गया लेकिन कोई हाथ नहीं आया। कुलड़ी बाजार में चढ़ाई पर दुकान से भी आरोपियों ने सामान खरीदा। दुकानदार हरपाल गोयल ने बताया कि जिस समय की घटना है उस समय दुकान पर उनका लड़का सतीश गोयल था उसके युवकों द्वारा पेटीएम का स्क्रीन शार्ट देखा लेकिन कहा कि अभी मैसेज नहीं आया है तो उन्होंने कहा कि आ जायेगा। जब दस पंद्रह मिनट तक मैसेज नही आया तो उन्हें शक हुआ और उनको ढूढने निकल गये जो कि मात्र सौ मीटर की दूरी पर रियाल्टो चैक में मिल गये जब उनसे कहा कि उनके पास पैसे का मैसेज नहीं आया ऐसे में पैसा नकद दें या सामान वापस करें। जिस पर युवाओं ने कहा कि पेटीएम हो गया है यह दिखा रहा है हो सकता है  कि सरवर कम हो थोड़ी देर में आ जायेगा लेकिन दुकानदार नहीं माना तो वह दुकानदार पर बिफर पडे़ कि पैसा आपके खाते में आ गया है हम दुबार पेमेंट क्यों करें। इस पर दुकानदार बैंक से फोन पर बात करने लगा इतने में तीनों अचानक खिसक गये। उन्होंने बाइक से मालरोड पर कई चक्कर काटे लेकिन नहीं मिले जबकि वह रियाल्टो से यूपी काटेज में वह घुस गये व वहां भी उन्होंने काफी देर तक शापिंग की व वहां भी उन्होंने पेटीएम से पेंमेंट की। दुकानदार मनोज अग्रवाल ने कहा कि उन्होंने जो पेटीएम का स्क्रीन शार्ट दिखाया उस पर कोई भी भरोसा कर सकता है लेकिन शाम को जब उन्होंने मोबाइल पर देखा तो मैसेज नहीं आया था। वहीं उसके बाद वह झूलाघर के समीप अरूण जैन की दुकान पर गये व वहां से भी शापिंग की। लेकिन कोई भी उनके द्वारा की जा रही ठगी पर भरोसा नहीं कर पाया और वह रात को गांधी चैक में ए कुमार की दुकान पर गये और वहां पर केक सहित अन्य खाने का सामान लिया व वहां भी पेटीएम करने उन्हें भी ठगी का शिकार बना डाला। कोतवाल भावना कैंथोला का कहना है कि मामला संज्ञान में आने पर सभी चैकियों को सतर्क कर दिया गया है तथा पुलिस जांच में जुट गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here