Home अभी-अभी पीढ़ियों तक याद रहेगी रवाई-जौनपुर को एन डी तिवारी की सौगात

पीढ़ियों तक याद रहेगी रवाई-जौनपुर को एन डी तिवारी की सौगात

333
0

जय प्रकाश बहुगुणा

बडकोट : उत्तरप्रदेश-उत्तराखण्ड के पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के निधन की खबर से यू तो पूरे प्रदेश में शोक छाया है लेकिन रवाई -जौनपुर के लोगों को इस महान राजनीतिज्ञ के चिरनिद्रामें लीन होने का बेहद दुख है।जैसे ही क्षेत्र में तिवारी की मृत्यु की खबर आम जनमानस तक पहुंची रवाई-जौनपुर में शोक की लहर छा गई ।इसकी एक खास वजह है नारायण दत्त तिवारी जब पहली निर्वाचित उत्तराखंड विधान सभा में मुख्यमंत्री बने तो उसके कुछ समय बाद उन्होंने रवाई-जौनपुर के वाशिन्दों को एक ऐसी सौगात दी जिसे यहाँ के बड़े, बुजुर्ग, खासकर युवा पीढ़ी सदियों तक याद रखेगी।नारायण दत्त तिवारी ने 2004 में उत्तरकाशी जनपद के रवाई घाटी व टिहरी गढ़वाल जनपद के जौनपुर क्षेत्र को अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल कर यहाँ के युवाओं के लिए वृहद रोजगार का साधन उपलब्ध करवाया।जिसके बाद इस पिछड़े क्षेत्र के युवाओं को रोजगार हासिल करने में अधिक मौके मिलने लगे।नारायण दत्त तिवारी के निधन पर यहाँ के बिभिन सामाजिक, राजनैतिक व कर्मचारी संघठन से जुड़े लोगों ने गहरा दुःख ब्यक्त किया है।पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष सकल चन्द रावत, नारायण सिंह चौहान, वरिष्ठ अधिवक्ता वीरेंद्र सिंह पयाल, ब्लॉक प्रमुख श्रीमती रचना बहुगुणा,भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष भरत रावत, जिला महामंत्री सन्दीप राणा, दिव्यांग संघठन के प्रदेश सलाहकार बोर्ड के सदस्य सुरेंद्र रावत, ब्यापार मण्डल अध्यक्ष राजाराम जगूड़ी, पूर्व ब्लॉक प्रमुख सुलोचना गौड़,प्यारे लाल हिमानी सहित कई लोगों ने शोक व्यक्त कर तिवारी को श्रद्धांजलि अर्पित की।

2004 में रवाई-जौनपुर को किया था अन्य पिछड़ा वर्ग में शामिल

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here