Home अभी-अभी पशुधन कौतिक का हुआ समापन ।। पहाड़ो के लिए उन्नत नस्ल...

पशुधन कौतिक का हुआ समापन ।। पहाड़ो के लिए उन्नत नस्ल के पशुओ की आवश्यकता – कपड़ा मंत्री

42
0
SHARE

सन्दीप पांडेय

पंतनगर :  पंतनगर में अयोजीत पशुधन कौतिक का समापन केंद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा ने किया। पशुधन कौतीक के दूसरे दिन कृषकों , पशुपालकों तथा पशु चिकित्साधिकारियों एवं अन्य विभागीय अधिकारियों के लिये लाभप्रद विभिन्न तकनीकी सत्रों का आयोजन किया गया ।जिसमें विभिन्न विषय विशेषज्ञों द्वारा कई लाभदायक जानकारियां दी गईं। जिनमे मुख्य रूप से आय दुगुनी करने ,पलायन रोकने ,पर्वतीय क्षेत्रों में समृद्धि लाने के लिए उन्नत नश्ल के बकरी पालन ,मत्स्य पालन , उन्नत चारा उत्पादन ,थनैला रोग के निदान एवं उपचार के लिए नवीनतम जानकारी आदि की जानकारी दी गई ।
कार्यक्रम में केद्रीय कपड़ा राज्य मंत्री अजय टम्टा द्वारा पशुधन कौतिक में लगाये गये स्टालों का निरीक्षण भी किया गया । उनके द्वारा पर्वतीय क्षेत्रों में दुधारू पशुओं एवं बकरी की उन्नत नशलों को पर्वतीय क्षेत्रों के पशुपालकों के लिए सुगमता से उपलब्ध कराने की ओर विशेष ध्यान दिये जाने की आवश्यकता पर बल दिया ।

डॉ आर मीनाक्षी सुंदरम, सचिव पशुपालन ने दूसरे दिन के कार्यक्रमों की जानकारी देते कार्यक्रम के आयोजन के लिए सभी को धन्यवाद किया और कार्यक्रम की शुरुआत की।
आईवीआरआई के वैज्ञानिक डॉ महेश चंद्र द्वारा उत्पादकता बढ़ाने के साथ-साथ बाजार के दृष्टिगत नये उत्पाद व उत्पादों के नवीनीकरण की ओर विशेष ध्यान देने की बात रखी।
दूसरे दिन भेड़ों में मशीनों द्वारा ऊन कतरन की प्रतियोगिता भी आयोजित की गई जो पशुधन कौतीक के दूसरे दिन का विशेष आकर्षण का केंद्र रही। कौतिक में उन्नत नश्ल की भेड़ों व बकरियों के पालकों व ऊन कतरन के प्रतिभागियों को पुरस्कृत भी किया गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here