Home अभी-अभी निष्पक्ष चुनाव कराना हमारा काम-सौजन्या

निष्पक्ष चुनाव कराना हमारा काम-सौजन्या

109
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा
 

उत्तरकाशी : निष्पक्ष पारदर्शिता से निर्वाचन सम्पन्न कराना हमारा दायित्व है इसलिए सभी अधिकारी निर्वाचन आयोग के निर्देशो का अनुपालन करते हुए कार्यो का सम्पादन करें।
जनपद भ्रमण पर पहुंची मुख्य निर्वाचन अधिकारी उत्तराखण्ड श्रीमती सौजन्या ने जिला सभागार में लोकसभा निर्वाचन 2019 की तैयारियों की बैठक लेते हुए कहा कि निष्पक्ष पारदर्शिता से निर्वाचन कराने के साथ ही आर्दश आचार संहिता का अनुपालन करना व कराना भी सुनिष्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि मतदान स्थलों का सर्वे कर लें कोई मतदेय स्थल क्षतिग्रस्त न हो। जो भी कमीयां हो उन्हें तुरन्त मरम्मत करा ली जाए। मतदान केन्द्रों में मूलभूत सुविधाएं बिजली,पानी, रैम्प आदि मुहैया करवायी जाए।
मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने कहा कि जोनल,सेक्टर मजिस्ट्रेट व मतदान कार्मिकों को ईवीएम व वीवीपैट का भलीभांती प्रशिक्षण दिया जाए ताकि मतदान दिवस के दिन किसी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। उन्होंने कहा कि वीवीपैट मशीन पहली बार प्रयोग में लायी जा रही है मशीन बहुत संवदेनशील है इसलिए उसका अच्छी तरह से प्रशिक्षण प्राप्त कर प्रयोग किया जाए।मशीन के उपयोग के साथ ही लाने व ले जाने में भी सावधानीयां बरती जाए। उन्होंने कहा कि मतदान के उपरान्त ईवीएम, वीवीपैट स्ट्रांग रूम में रखकर पर्याप्त व्यवस्था सुनिष्चित की जाए व सीसीटीवी कैमरे भी लगायें जाए।
उन्होंने कहा कि निर्वाचन की घोषणा होते ही आर्दश आचार संहिता लागू हो जाएगी। आर्दश आचार संहिता का अनुपालन कराना सुनिष्चित करेंगे इस हेतु सभी राजनैतिक दलों के साथ बैठक करना भी सुनिष्चित करेंगे। उन्होंने कहा कि दस प्रतिशत मतदान बूथों की वैब कॉस्टिंग कराना भी अनिवार्य है इसलिए व्यवस्थाएं सुनिष्चित की जाए।
अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी वी. षणमुगम ने कहा कि निर्वाचन प्रक्रिया में किसी भी प्रकार की त्रूटी क्षम्य नहीं होती है इसलिए निर्वाचन में लगे सभी अधिकारी व कर्मचारी सौंपे गए कार्यो का गंभीरता से सम्पादन करें। उन्होंने कहा कि मास्टर ट्रेनर सभी कार्मिकों को ईवीएम व वीवीपैट का प्रशिक्षण के साथ ही आयोग द्वारा दिए गए निर्देशो को भी भलीभांती बताएं। उन्होंने कहा कि ईवीएम मशीनों की एफएलसी की जांच करवाकर डबल लॉक में रखी जाए तथा सुरक्षा के साथ ही सीसीटीवी कैमरे की नजर में रखें। उन्होंने कहा निर्वाचन संबंधी साम्रगियों आदि की व्यवस्थाएं सुनिष्चित कर ली जाए वस्तुओं का बाजार सर्वे कर रेट लिस्ट बना ली जाए ताकि पार्टी प्रत्याशियों का व्यय निर्धारण कर सके। निर्वाचन के दौरान मादक पदार्थो पर पूर्ण प्रतिबंध लगाया जाए तथा स्टार प्रचारकों की गाड़ियों आदि की चैकिंग अवश्य करते हुए उसकी वीडियोग्राफी भी की जाए। उन्होंने कहा कि निर्वाचन के दौरान प्रतिदिन कानून व्यवस्था, आर्दश आचार संहिता, आबकारी आदि की रिर्पोट प्रातः 9 बजे तक निर्वाचन आयोग को भेजने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी/जिला निर्वाचन अधिकारी डा. आशीष चौहान ने बताया कि जनपद में कुल 2,21,092 मतदाता हैं। जिनके मतदान हेतु 531 बूथ बनाएं गए है। उन्होंने कहा कि सभी बूथों का मजिस्ट्रेट के द्वारा सर्वे करा लिया गया है। बूथों में पानी, बिजली, रैम्प, शौचालय आदि की व्यवस्था कर ली गई है। उन्होंने कहा कि शत-प्रतिशत मतदाताओं के फोटो पहचान पत्र बनाएं गए हैं व जनपद में पर्याप्त ईवीएम व वीवीपैट मशीनें उपलब्ध हैं तथा मशीनों की प्राथमिक जांच करा ली गई है। उन्होंने बताया कि जनपद के सभी गांव में मतदाताओं को ईवीएम वीवीपैट  का प्रशिक्षण व जानकारीयां दे दी गई है। नोडल, सेक्टर, जोनल मजिस्ट्रेटों के साथ ही शिक्षकों को ईवीएम वीवीपैट का प्रशिक्षण दे दिया गया है। सुरक्षा व संचार प्लान तैयार कर लिए गए है।
बैठक के उपरान्त मुख्य निर्वाचन अधिकारी व अपर मुख्य निर्वाचन अधिकारी द्वारा निर्वाचन कार्यालय में स्थापित वेयर हाऊस में डबल लॉक में रखे गए ईवीएम व वीवीपैट का बाहर से निरीक्षण किया।
बैठक में पुलिस अधीक्षक पंकज भट्ट, मुख्य विकास अधिकारी प्रषान्त आर्य,अपर जिलाधिकारी हेमंत वर्मा, उप जिलाधिकारी देवेन्द्र नेगी, अनुराग आर्य, पूरण सिंह राणा, नमामि बंसल, डिप्टी कलेक्टर आकाष जोशी, परियोजना निदेशक आरएस रावत, जिला विकास अधिकारी संजय सिंह, मुख्य शिक्षाधिकारी आरसी आर्य, जिला अर्थ एंव संख्याधिकारी सहित संबंधित अधिकारी मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here