Home अभी-अभी देश व्यापी हड़ताल के तहत श्रमिक संगठनों ने प्रदर्शन किया।

देश व्यापी हड़ताल के तहत श्रमिक संगठनों ने प्रदर्शन किया।

110
0
SHARE
?????????????

कपिल मलिक

मसूरी : केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी नीतियों के खिलाफ बैंक, डाक विभाग सहित अन्य विभागों व टेªड यूनियनों ने हड़ताल रखी। वहीं मसूरी में ट्रेड यूनियन समन्वय समिति के तत्वााधान में श्रमिकों ने शहर में प्रदर्शन किया। व गांधी चैक पर सभा की। इस दौरान जिन होटलों में कर्मचारी रैली में नहीं आये वहां जाकर प्रदर्शन किया गया।

केंद्र सरकार की मजदूर विरोधी नीति के खिलाफ दो दिवसीय हड़ताल का मसूरी में भी प्रभाव रहा। हड़ताल के दौरान बैंक बंद रहे वहीं डाकघर में भी कोई कार्य नहीं हुआ। दूसरी ओर मसूरी ट्रेड यूनियन समन्वय समिति के तत्वाधान में असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों होटल वर्कस यूनियन, दुकान कर्मचारी संघ, स्कूल कर्मचारी संघ, भवन निर्माण संघ, होटल एवं रेस्टोरेंट कर्मचारी संघ, मजदूर संघ, गाइड यूनियन आदि ने शहर में रैली निकाल प्रदर्शन किया व जमकर केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी की। इस मौके पर एटक के अध्यक्ष आरपी बडोनी ने कहा कि केंद्र सरकार लगातार श्रमिक विरोधी नीति अपनाती रही है जिसका खामियाजा सरकार को आगामी आम चुनाव में उठाना पडे़गा। उन्होंने कहा कि विगत कई वर्ष से श्रमिक न्यूनतम वेतन 20 हजार की मांग कर रहे हैं लेकिन सरकार ने इस पर कोई ध्यान नहीं दिया जबकि मंहगाई लगातार बढ़ रही है। उन्होंने कहा कि सरकार पूंजीपतियों के इशारों पर कार्य कर रही है तथा श्रम कानूनों को लागू नहीं कर पा रही है। बल्कि उलंघन किया जा रहा है। इस मौके पर सीटू के नेता सोबन सिंह पंवार ने कहा कि केंद्र सरकार बनने के बाद से आज तक लगातार मजदूरों को शोषण ही नहीं कर रही बल्कि बडे़ उद्योग पतियों के साथ मिलकर श्रमिक विरोधी नियम बना रही है। उन्होंने कहा कि आज भी असंगठित क्षेत्र में श्रमिकों के लिए कोई नियम कानून नहीं है तथा जो सुविधायें उन्हें मिलनी चाहिए वह भी नहीं मिल पा रही है। उन्होंने यह भी कहा कि श्रम कानूनों के उलंघन के साथ ही श्रमिकों को शोषण किया जा रहा है जिसे बर्दास्त नहीं किया जायेगा और आगामी लोक सभा चुनाव में इसका खामियाजा भुगतना पड़ेगा। इस मौके पर बड़ी संख्या में श्रमिक संगठनों के नेता मौजूद रहे जिसमें सलीम अहमद, देवी गोदियाल, असलम खान, गंभीर पंवार, बैशाख सिंह मिश्रवाण, विक्रम कलूडी, पूरण सिंह, सुनील कुमार, त्रेपन सिंह रावत, सहित सैकड़ो मजदूर मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here