Home अभी-अभी थौलधार सांस्कृतिक लोककला मंच के कार्यक्रम में गायकों ने समां बांधा।

थौलधार सांस्कृतिक लोककला मंच के कार्यक्रम में गायकों ने समां बांधा।

78
0

बिजेंद्र पुंडीर

मसूरी : थौलधार सांस्कृतिक लोक कला मंच की सातवीं वर्षगांठ पर आयोजित सांस्कृतिक गीत संध्या में जहां लोक कलाकारों ने समां बांधा वहीं सम्मान समारोह में उत्कृष्ट कार्य करने वालों को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि विधायक धनोल्टी ने कहा कि थौलधार लोककला मंच क्षेत्र के विकास में अच्छा कार्य कर रही है।

मालरोड के समीप शगुन वैडिंग प्वांइंट में आयोजित सांस्कृतिक गीत संध्या एवं सम्मान समारोह का उदघाटन बतौर मुख्य अतिथि विधायक धनोल्टी एवं पूर्व मंत्री प्रीतम सिह पंवार, पूर्व विधायक जोत सिंह गुनसोला ,महावीर रांगड़, भाजपा जिलाध्यक्ष संजय नेगी, भाजपा मसूरी मंडल अध्यक्ष मोहन पेटवाल, पूर्व पालिकाध्यक्ष ओपी उनियाल, ने दीप प्रज्वलित कर किया। इसके बाद एक से बढ़कर एक सांस्कृतिक प्रस्तुतियां देकर लोक गायकों ने दर्शकों एवं श्रोताओं को थिरकने पर मजबूर किया। कार्यक्रम में दिवान सिंह पंवार, पूनम सती, विरेंद्र पंवार, मनोज सागर आदि ने अपने गीतों से समां बांधा। वहीं लोक कलाकारों ने नृत्य किया। कार्यक्रम का शुभारंभ मां नंदा देवी के गीत से किया गया। कार्यक्रम में विभिन्न क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्य करने के लिए प्रदीप भंडारी, मनोज रयाल, आरपी बडोनी, भावना कैंथोला आदि को सम्मानित किया गया।

इस मौके पर बतौर मुख्य अतिथि विधायक धनोल्टी ने कहा कि उत्तराखंड की पहचान ही अपनी पौराणिक संस्कृति से है जिसके संरक्षण व संवर्धन की जिम्मेदारी सभी की होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पलायन उत्तराखंड की संस्कृति के लिए घातक है क्योंकि गांव खाली होने से हमारी संस्कृति भी समाप्त हो रही है। उन्होंने समिति की सराहना की कि वह अपनी संस्कृति को आगे बढाने के साथ ही समाज के विभिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वालों को सम्मानित कर प्रेरणा देने का कार्य कर रही है। इस मौके पर पूरण सिंह रावत, दिलचंद रमोला, पूरण नेगी, प्रेम खंडूरी, धर्मप्रकाश भटट, अनिल गोदियाल, सुमन डबराल, मीरा सकलानी, अनीता पुंडीर, अरविंद सेमवाल, प्रमिला नेगी, लीला कंडारी, सहित बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here