Home अभी-अभी डीएम ने आपदा प्रबंधन व वनाधिकारी को दिए निर्देश

डीएम ने आपदा प्रबंधन व वनाधिकारी को दिए निर्देश

231
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी :  आपदा प्रबंधन सम्बन्धित बैठक लेते हुए जिलाधिकारी डा0 आशीष चौहान ने कहा कि शीतकाल में ऊपरी क्षेत्रों के गांव में प्रवास कर रहे ग्रामीणों द्वारा अपने घरों व घरों से लगे गोषालाओं में लकड़ियों व जानवरों के लिए घास भण्डारण किया जाता है जिससे आग लगने की स्थिति में भारी नुकसान होने की सम्भावनाऐं बनी रहती है। उन्होंने आपदा प्रबंधन अधिकारी व वनाधिकारी को निर्देश दिये कि वे ऐसे सुदूरवर्ती गांव के घरों में लकड़ी घास का भण्डारण न करने व आग से बचाव करने की जागरूकता व प्रषिक्षण देने के निर्देष दिये। उन्होंने कहा कि ऐसे गांव को चिन्ह्ति कर रोस्टर बनाकर प्रषिक्षण व जागरूक किया जाय, साथ ही ग्राम पंचायत निधि से अग्निषमन यंत्र खरीदवाने के निर्देष भी दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि षीतकालीन अग्नि के साथ ही फायर सीजन वनाग्नि का गत वर्शो में क्षेत्रों में हुए नुकसान आदि का आंकलन कर पुख्ता रणनीति तैयार की जाय साथ ही आग बुझाने हेतु उपकरण, मास्क, ड्रेस आदि खरीदने के निर्देष भी आपदा प्रबंधन व वनाधिकारी को दिये।
जिलाधिकारी ने कहा कि आगामी लोक सभा निर्वाचन नजदीक है इसलिए निर्माणदायी संस्थायें कार्यों के टेण्डर कर कार्यों को समय से प्रारम्भ कराना सुनिष्चित करें। उन्होंने यमुनोत्री मार्ग में ओजरी डाबरकोट मुख्य सड़क कार्य के साथ ही त्रिखला-कुन्साला, कुपड़ा सड़क व फिताड़ी-लिवाड़ आदि सड़क कार्यों में तेजी लाने के निर्देष कार्यदायी संस्थाओं के अधिकारियों को दिये। उन्होंने कहा कि यात्रा सीजन व अगले बर्शाकाल से पूर्व डाबरकोट मुख्य मार्ग के साथ ही यमुनोत्री जाने हेतु वैकल्पिक सड़कों की मरम्मत कार्य पूर्ण कर लिये जायं। तथा रणनीति के तहत कार्यों को करें ताकि यात्रा सीजन से पूर्व सभी सड़क मरम्मत कार्य पूर्ण हो सके। उन्होंने यमुनोत्री में षीतकाल के दौरान कार्यों में गति लाने के निर्देष अधिकारियों को दिये तथा उपजिलाधिकारी बड़कोट को निर्देष दिये कि वे कार्यों की प्रगति का नियमित निरीक्षण करायेंगे व कार्यों की प्रगति सूचना जिला कार्यालय को उपलब्ध कराना सुनिष्चित करेंगे।
जिलाधिकारी श्री चौहान ने त्रिखला-कुन्साला सड़क मार्ग में वसुधारा गाड पर पुलिया व ह्यूम पाइप कार्य षीघ्र प्रारम्भ करने के निर्देष अधिषासी अभियंता पीएमजीएसवाई को दिये। उन्होंने कहा कि डाबरकोट सड़क बार-बार टूटने से अवरूद्व रहती है व मलबा गिरने के कारण दुर्घटना की सम्भावानाऐं बनी रहती है। इसके लिए उन्होंने अधिषासी अभियंता लोनिवि, एनएच, पीएमजीएसवाई को निर्देष दिये कि डाबरकोट में जहां बारबार मलबा ऊपर से आने से अवरूद्व होती है के ऊपरी क्षेत्र में जाकर निरीक्षण कर रिपोर्ट प्रस्तुत करें ताकि ऊपरी क्षेत्र का उपचार किया जा सके। उन्होंने फूलचट्टी-जानकीचट्टी के बीच सड़क धसाव वाले क्षेत्रों में सुधारीकरण कार्य कराने व यमुनोत्री में सेतु निर्मण कार्य प्रारम्भ कराने के निर्देष अधिषासी अभियंता लोनिवि को दिये।
बैठक में पुलिस अधीक्षक ददनपाल, प्रषिक्षु आईएएस नमामि बंसल, अपर जिलाधिकारी हेमन्त वर्मा, उपजिलाधिकारी अनुराग आर्य, परियोजना  निदेशक आर0एस0 रावत, डा0 सीएस रावत, अधिषासी अभियंता लोनिवि एस0के0 गर्ग, अधिषासी अभियंता नवनीत पाण्डेय, अधिषासी अभियंता पीएमजीएसवाई षिवनारायण सिंह, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, जिला समन्यवक आपदा जय पंवार आदि मौजूद थे।

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here