Home अभी-अभी चार धाम यात्रा के मध्येनजर व्यवस्थायें दूरस्थ करने के निर्देश

चार धाम यात्रा के मध्येनजर व्यवस्थायें दूरस्थ करने के निर्देश

122
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : उत्तरकाशी के जिलाधिकारी ने आगामी चार धाम यात्रा के मध्येनजर आज सम्बंधित विभागों की बैठक कर व्यवस्थायें दूरस्थ करने के निर्देश दिए।  जिलाधिकारी डा. आशीष चैहान ने आगामी चारधाम यात्रा की तैयारियों को लेकर यात्रा से जुड़े विभागों की एक महत्वपूर्ण बैठक ली।

जिला सभागर में आयोजित बैठक में जनपद के दोनों धाम यमुनोत्री एवं गंगोत्री में यात्रा मार्गो पर विभिन्न मुलभूत सुविधाओं यथा सड़क, बिजली, पानी,स्वास्थ्य,शौचालय,सफाई, आदि व्यवस्थाओं पर चर्चा की गई। उन्होंने कहा कि गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर चिन्ह्ति भूस्खलन, एवं डेंजर जोन पर जेसीबी मशीन एवं चालक की तैनाती पहले से ही की जाए। भूस्खलन व डेंजर जोन क्षेत्र पर वैक्लिप मार्ग का प्लान बनाने के साथ ही डबरानी व गंगनानी के बीच भूस्खलन होने की स्थिति में श्रद्धालुओं को किसी भी प्रकार की समस्या उत्पन्न न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन लोगों को सुरक्षित स्थान पर रूकवाएंगे। मनेरा बाईपास सड़क मार्ग  के साथ ही राष्ट्रीय राजमार्ग के डेंजर जोनस पर क्रेश बेरियर, पैराफिट लगाने के निर्देश बीआरओ को दिए।  जिलाधिकारी ने यात्रा सीजन मंे उपरी क्षेत्रों में नेटवर्क की समस्या को देखते हुए वायरलेस के साथ ही 26 सेटेलाईट फोन से कनेक्टिीविटी बनाए रखने के निर्देश भी संबंधित अधिकारियों को दिए।    विद्युत संयोजन इत्यादि व्यवस्था यात्रा सीजन से पहले ही कर ली जाए। पूर्व की भांती सभी यात्रा रूट पर अस्थाई शौचालय बनाने के साथ ही गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर मनेरी से लगा खेड़ी वाटरफाल के पास भी अस्थाई शौचालय बनाने के निर्देष सुलभ को दिए।

जिलाधिकारी डा.  चौहान ने कहा कि गंगोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग पर बन्दरकोट में भी श्रद्धालू बड़ी संख्या में रूकते है तथा स्नान भी वहीं करते हैं, उनकी सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम करते हुए रात्रि के समय प्रकाश की व्यवस्था करने हेतु बैंड के पास स्ट्रीट लाईट लगायी जाए। तथा बन्दरकोट के सौन्दर्यीकरण के लिए प्लान बनाने के निर्देश दिए। नगर पंचायत गंगोत्री को पार्किग, पथ प्रकाश, शौचालय, साफ सफाई की समुचित व्यवस्था रखने के निर्देश दिये।

जिलाधिकारी ने यमुनोत्री राष्ट्रीय राजमार्ग को दुरूस्थ करने के साथ ही ओजरी में भूस्खलन होने की सम्भावनाओं को देखते हुए भू-वैज्ञानिक का सर्वे करवाकर तथा भूस्खलन क्षेत्र के दोनों ओर मय संसाधन मशीन, पाॅकलैण्ड, तथा कृत्रिम प्रकाश इत्यादि की व्यवस्था करने के निर्देश अधिषासी अभियंता एनएच और जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी को दिए। डाबरकोट त्रिखली पैदल मार्ग को दुरूस्थ करने के साथ ही त्रिखली कुंसाला मोटर मार्ग पर पुलिया निर्माण व ह्यूम पाईप लगाने का कार्य भी यात्रा सीजन से पहले करने के निर्देश पीएमजीएसवाई को दिए तथा उप जिलाधिकारी बड़कोट को माॅनीटरिंग करने के निर्देश दिए। त्रिखला-कुंसाला मोटर मार्ग पर वालियंटर रखने के निर्देश दिए गए ताकि आपात स्थिति में उनका उपयोग किया जा सके। उन्होंने कहा कि नौगांव-बड़कोट मोटर मार्ग का डामरीकरण का कार्य भी यात्रा सीजन से पहले किया जाए। जिलाधिकारी ने यमुनोत्री धाम पैदल मार्ग को ठीक कराने के साथ ही धाम परिसर में सुरक्षात्मक कार्य व पुल निर्माण का कार्य यात्रा सीजन से पहले पूर्ण करने के निर्देष अधिशासी अभियंता सिंचाई को दिए। तथा पैदल मार्ग पर पर्याप्त अस्थाई शौचालय व रात्रि के समय कृत्रिम प्रकाश की समुचित व्यवस्था संबंधित विभाग समय से पहले कर लें। ओजरी व स्यानाचट्टी में पेयजल की व्यवस्था को दुरूस्थ कर ली जाए। जिलाधिकारी ने कहा कि पूर्व मे राना चट्टी में एटीएम लगाने के निर्देश पीएनबी को दिए गए उन्होंने प्रगति रिर्पोट को उपलब्ध कराने के निर्देश पीएनबी को दिए।

बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त आर्य, सीएमओ डा. विनोद नौटियाल, उप जिलाधिकारी देवेन्द्र सिंह नेगी, डिप्टी कलेक्टर आकाश जोशी जिला आपदा प्रबन्धन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, परियोजना अधिकारी उरेड़ा मनोज कुमार,आदि अधिकारी उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here