Home अभी-अभी घंटों इंतजार के बाद भी बसें न मिलने से पर्यटकों को हो...

घंटों इंतजार के बाद भी बसें न मिलने से पर्यटकों को हो रही भारी परेशानी।

205
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : मसूरी देहरादून आने जाने वालों को उत्तराखंड परिवहन निगम की बसों की भारी कमी के कारण परेशानी उठानी पड़ रही है। बसों का घंटो इंतजार करने के कारण कई लोगों के आगे जाने की राह कठिन हो रही है तथा कईयों की ट्रेने छूट रही हैं।

इन दिनों पर्यटन सीजन चरम पर है लेकिन उत्तराखंड परिवहन निगम द्वारा मसूरी आने जाने वालों के लिए पर्याप्त बसें न होने के कारण लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। मसूरी घूमने आने वाले प्र्यटकों को पहले तो देहरादून से मसूरी आने के लिए घंटों गर्मी में प्रतीक्षा करनी पड़ रही है और फिर मसूरी से वापस लौटने के लिए भी परेशानी उठानी पड़ रही है। हालांकि परिवहन निगम के अधिकारियों का कहना है कि बसों की कमी के कारण निश्चित ही पर्यटकों को परेशानी उठानी पड़ रही है। क्यों कि मसूरी जाकर बसें जाम में फंस जाने के कारण समय से नही पहुंच रही। जिस कारण देहरादून से बसे नहीं आ पा रही है। जबकि मसूरी क लिए सर्विस बढाई गई हैं व जो बसे जा रही है उसमें स्टैडिंग सवारियां भी भेजी जा रही है। बसों की कमी का लाभ टैक्सी वाले भी उठा रहे हैं। हरियाणा से आये दीपक शर्मा का कहना है कि वे मसूरी अपना निजी वाहन लेकर नही आये ताकि वाहनों का दबाव कम रहे सोचा सरकारी बस से जायेंगे लेकिन यहां पर टिकट नहीं दिया जा रहा घंटो लाइन में खड़े है और महिलाएं लाइन में लगी है और बच्चे रो रहे हैं। उन्होंने इसे प्रशासन व परिवहन विभाग की लापरवाही बताया व आरोप लगाया कि वे टैक्सी वालों से मिले है जो दो हजार रूप्ये देहरादून के मांगते है व चार सवारियां ले जाने की बात करते हैं जबकि फेमिली ग्रुप में आती है। ऐसे में कितनी टैक्सी की जायेगी। हैदराबाद से परिवार सहित मसूरी घूमने आये इकराम का कहना है कि वापस जाने के लिए घंटों से बस नहीं आई है। ऐसे में वह कब तक खड़े रहेंगे सबसे बड़ी समस्या यह है कि उनके ट्रेन में रिजर्वरेशन है जिसके चलते वह समय से नहीं पहुंच पायेगे व उनकी टेªन छूट जायेगीं। वहीं कहा कि बस स्टैण्ड में कोई बैठने की व्यवस्था नहीं है न ही पानी आदि की व्यवस्था नहीं है ऐसे में कब तक आदमी या महिलाएं खड़ी रहेगी। यहीं हाल देहरादून से मसूरी का है। इस पर प्रशासन व परिवहन निगम को ध्यान देना चाहिए व बसें बढ़ाई जानी चाहिए ताकि मसूरी घूमने आ रहे प्र्यटकों को परेशानी न हो अन्यथा ऐसी परेशानी में में मसूरी क्यों आयेगा। टैक्सी वाले दो हजार मांगते हैं जिसके कारण लोगों को भारी पेरशानियों का सामना करना पड़ रहा है। वहीं बसे न मिलने से स्थानीय निवासियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है जो रोज देहरादून काम करने जाते है व वहां से मसूरी आते हैं उन्हें भी बसे न मिलने के कारण भारी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here