Home अपराध ग्रामीणों ने बी एस एन एल कर्मियों को बनाया बंधक, नेटवर्क बहाली...

ग्रामीणों ने बी एस एन एल कर्मियों को बनाया बंधक, नेटवर्क बहाली व पुलिस हस्तक्षेप के बाद छोड़ा

145
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

बड़कोट : यमुनाघाटी में आये दिन भारत संचार निगम की सेवाएं ठप्प रहने से आज स्थानीय लोगों का गुस्सा फूट पड़ा।यमुनाघाटी के डामटा क्षेत्र में बीते 15 दिनों से बीएसएनएल की नेटवर्क सेवा ठप होने से क्षेत्र के लोगों में आक्रोश है। डामटा क्षेत्र के लोगों ने बीएसएनएल के जेटीओ को यहां कुछ समय के लिए बंधक बनाया। जि सके बाद पुलिस के हस्तक्षेप और संचार सेवा शीघ्र सुचारू करने के आश्वासन के बाद ग्रामीणों ने जेटीओ को छोड़ा। ग्रामीणों ने चेतावनी दी है कि यदि 7 मई तक क्षेत्र में नेटवर्क सेवा सुचारू नहीं हुई, तो 7 मई को डामटा में राष्ट्रीय राजमार्ग को जाम कर यहां धरना प्रदर्शन करने को मजबूर होंगे।
उपरोक्त सम्बन्ध में ग्रामीणों ने जिलाधिकारी को भेजे ज्ञापन में ग्रामीणों ने कहा है कि बीते 15 दिनों से डामटा में बीएसएनएल सेवा पूरी तरह ठप पड़ी हुई है। ग्रामीणों ने कई बार विभागीय अधिकारियों से संचार सेवा को बहाल करने की मांग की। लेकिन ग्रामीणों की कोई सुध नहीं ल् रहा है। आक्रोशित ग्रामीणों ने बड़कोट से नैनबाग की ओर जा रहे बीएसएनएल के जेटीओ किशोर नौटियाल , जे ई विजय बहादुर व अन्य कर्मियों को डामटा में एक स्थान पर बिठाया और फिर उन्हें बंधक बना लिया और कहा कि जब तक डामटा क्षेत्र में बीएसएनएल सेवा ठीक नहीं की गई, तब तक उन्हें नहीं छोड़ा जाएगा। लेकिन, बाद में पुलिस के हस्तक्षेप के साथ ही बीएसएनएल कर्मियों ने आश्वासन दिया कि वह नैनबाग में बीएसएनल की लाइन ठीक करने जा रहे हैं और वह जल्दी ही इसे ठीक कर लेंगे। जिसके बाद लोगों ने बीएसएनएल कर्मियों को छोड़ा। ग्रामीणों का आरोप है कि बीएसएनल सेवा के ठप होने पर बीएसएनल कर्मी समय रहते संचार सेवा को ठीक नहीं करते हैं। जिसका खामियाजा क्षेत्र के उपभोक्ताओं को करना पड़ रहा है। क्षेत्र में आए दिन बीएसएनल की सेवा ठप पड़ी रहती है।दूसरी ओर बी एस एन एल अधिकारियों का कहना है कि सड़क के डबल कटिंग कार्य के चलते बार बार केवल कट रही है जिससे नेटवर्क बाधित हो रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here