Home अभी-अभी एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने किया छात्राओं को सम्मानित

एवरेस्ट विजेता बछेंद्री पाल ने किया छात्राओं को सम्मानित

241
0
SHARE

जय प्रकाश बहुगुणा

उत्तरकाशी : गत वर्ष बोर्ड व गृह परीक्षा में बालिकाओं के द्वारा शत प्रतिशत उतीर्ण होने पर बेटी बचाओ बेटी पढाओ कार्यक्रम के तहत 33 बालिकाओं को उत्कृष्ट बालिका सम्मान प्रदान किया। बालिकाओं को सम्मानित करने के दौरान बतौर मुख्य अतिथि पद्म भूषण सुश्री बछेन्द्री पाल ने कहा कि वे माता-पिता भाग्यशाली हैं जिनके घर बेटियाँ हैं क्योंकि पहाड़ो की बेटियों में अद्भुत शक्तियां विद्यामान हैं जिससे वह किसी भी मुकाम को हासिल कर सकती हैं। सुश्री पाल ने बताया कि एवरेस्ट फतह करने से ज्यादा चुनौती उनके सामने पढ़ने-लिखने की थी। वह डाक्टर बनने का सपना देखती थी लेकिन उनकी परिवार की आर्थिक हालात इसके अनुकूल नही थी। किसी तरह उनकी मां हंसा देवी के आग्रह पर उनके पिता किशन सिंह पाल इनकी स्नातकोत्तर व बीएड की पढ़ाई करवाने हेतु तैयार हुऐ। लेकिन कुछ कर गुजरने की चाहत उन्हें सागरमाथा पर भारत का झंडा फहराने वाली प्रथम भारतीय महिला का गौरव प्राप्त हुआ। राजकीय इंटर कालेज भंकोली से इंटरमीडिएट तक पढ़ाई करने वाली पूर्व छात्रा जिन्होंने इसी वर्ष माउंट एवरेस्ट फतह कर उत्तरकाशी व उत्तराखंड का नाम देश-विदेश में नाम रोशन किया कुमारी पूनम राणा को विद्यालय गौरव सम्मान प्रदान किया गया। एवरेस्टर पूनम राणा ने अपने संबोधन में बालिकाओं को अभिप्रेरित करते हुए विद्यालय की छात्राओं को बताया कि उनके सिर से माता-पिता का साया छीन जाने के बाबजूद भी मन में अदम्य साहस व बेटियों के सम्मान के लिए समर्पित बछेन्द्री पाल के संरक्षण से उन्हें एवरेस्ट विजेता बनने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। रिलायंस फाउंडेशन के परियोजना निदेशक कमलेश गुरूरानी ने कहा कि देश-दुनिया में भारत का मान- सम्मान बढ़ाने वाली हिमालय की बेटी सुश्री बछेन्द्री पाल के तरह हर बेटी यदि मन में कुछ लक्ष्य तय कर ले तो दुनियां में कुछ भी हासिल करना नामुकिंन नहीं। इस अवसर विद्यालय के प्रधानाचार्य कामदेव सिंह पंवार, ग्राम प्रधान नौगांव श्रीमती टिकड़ी देवी, ग्राम प्रधान भंकोली महादेव सिंह रावत, क्षेत्र पंचायत सदस्य नौगांव श्रीमती विमला देवी व भंकोली श्रीमती बिन्द्रा देवी, अजीम प्रेम जी फाउंडेशन, श्री भुवनेश्वरी महिला आश्रम के कार्यकर्ता, अस्सीगंगा घाटी की सैकड़ों महिलायें, अभिभावक व शिक्षक सेवाराम पोसवाल, माधव अवस्थी, आमेन्द्र असवाल, अनुपम ग्रोवर, महेश उनियाल, आशीष डंगवाल, विभूति भूषण, डॉ शंभू नौटियाल व श्रीमति अर्चना पालीवाल आदि उपस्थित थे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here