Home अभी-अभी इस बार का सीजन भगवान भरोसे, चुनाव के चलते नहीं सुधर रही...

इस बार का सीजन भगवान भरोसे, चुनाव के चलते नहीं सुधर रही व्यवस्थाऐं।

268
0
SHARE

कपिल मलिक

मसूरी : मसूरी में पर्यटन सीजन की व्यवस्स्थाओं को लेकर हर वर्ष मार्च माह में या इससे पहले उच्चाधिकारियों की बैठक होती थी ताकि सीजन में संबंधित विभाग अपनी व्यवस्थाओं की जानकारी दे सकें व जरूरी कमियों को दूर किया जा सके ताकि पर्यटक परेशान न हों। लेकिन इस बार लोकसभा चुनाव के तहत अधिकारी चुनाव में व्यस्त है, जिसके चलते कोई भी विभाग अपनी जिम्मेदारियों पर खरा नहीं उतर रहा है तथा लापरवाही बरती जा रही है। मालरोड सहित संपर्क मार्गो की हालात बहुत खराब है, जगह जगह गढढे पड़े हैं यही हाल संपर्क मार्गों का है ऐसे में सीजन के दौरान दुर्घटनाओं के बढ़ने की संभावना बढ़ गई है। वहीं मालरोड पर लगातार अतिक्रमण बढ़ता जा रहा है हर दिन एक नई दुकान सज रही है लेकिन कोई बोलने देखने वाला नहीं है। वहीं मालरोड पर वाहनों की संख्या लगातार बढ़ने से भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। एक वाहन के जरा सा खड़ा होने के जाम की स्थिति बन जाती है। वहीं पुलिस महकमा भी इस ओर ध्यान नहीं दे रहा है। जिस कारण स्थिति दिन प्रतिदिन बदहाल होती जा रही है। वहीं बिजली पानी का भी यही हाल है। बिजली का तो बहुत बुरा हाल है, आये दिन व दिन के कई कई बार बिजली गुल होती रहती है इससे पहले कभी बिजली की इतनी परेशानी नही हुई जितनी इस बार हो रही है। अभी से ये हाल है तो सीजन में क्या हाल होगा। इसी तरह पानी का भी यही हाल है अभी से ही मसूरी के कई क्षेत्रों में पानी की भारी किल्लत का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। और अभी सीजन आना बाकी है तब क्या हाल होगा। यही हाल सफाई, सीवर का है अभी तक सीवर लाइन का कार्य समाप्त नहीं हो पाया है जिस कारण इस बार सीजन में सीवर से भी पर्यटकों व स्थानीय लोगों को जूझना पडे़गा। पर्यटन विभाग तो मसूरी में विगत कई वर्षो से महात्मा गांधी के तीन बंदरों का कार्य कर रहा है वह न बोलता है न सुनता है न देखता है। ऐसे में सीजन की व्यवस्थाएं कैसे सुधर पायेंगी यह सवाल हर आदमी के मन मष्तिष्क में उठ रहा है। क्यों कि जब तक चुनाव पूरे होते हैं तब तक सीजन चरम पर होगा उस समय व्यवस्थाएं बनाना टेढ़ी खीर साबित होगा। अभी भी समय है कि सरकारी विभाग अपनी जिम्मेदारियों को दृढ इच्छा शक्ति के साथ निभायें लेकिन विभागों की भी यहीं स्थिति है सभी अधिकारी व अधिकतर कर्मचारी चुनाव डयूटी में हैं। इस बार का सीजन तो भगवान भरोसे ही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here